Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

RailFans - हमको देख देख दुनिया जले, हमको ज़माने से क्या

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Tue Nov 30 23:51:40 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 2250477-0
Medium; Platform Pic; Small Station Board;
Entry# 2342998-0


PMY/Pali Marwar (2 PFs)
     पाली मारवाड़

Track: Construction - Single-Line Electrification

Show ALL Trains
Sardar Patel Nagar, NH 65, Pali 306401.
State: Rajasthan

Elevation: 221 m above sea level
Zone: NWR/North Western   Division: Jodhpur

No Recent News for PMY/Pali Marwar
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 78
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 4.2/5 (24 votes)
cleanliness - excellent (3)
porters/escalators - good (3)
food - average (3)
transportation - excellent (3)
lodging - excellent (2)
railfanning - excellent (3)
sightseeing - good (3)
safety - good (4)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 29 News Items  next>>
Sep 28 (11:52) रेलवे स्टेशनों पर मनाया स्वच्छ पर्यावरण दिवस, दी पर्यावरण बचाने की जानकारी (www.patrika.com)
Commentary/Human Interest
NWR/North Western
0 Followers
15799 views

News Entry# 466177  Blog Entry# 5078479   
  Past Edits
Sep 28 2021 (11:52)
Station Tag: Nagaur/NGO added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688

Sep 28 2021 (11:52)
Station Tag: Pali Marwar/PMY added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688

Sep 28 2021 (11:52)
Station Tag: Degana Junction/DNA added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688

Sep 28 2021 (11:52)
Station Tag: Samdari Junction/SMR added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688

Sep 28 2021 (11:52)
Station Tag: Barmer/BME added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688
बाड़मेर. भारतीय रेलवे की ओर से मनाए जा रहे स्वच्छता पखवाड़े के तहत जोधपुर रेल मंडल में सोमवार कोस्वच्छ पर्यावरण दिवस मनाया गया।उत्तर पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी गोपाल शर्मा ने बताया कि मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पाण्डेय के निर्देशन में चल रहे स्वच्छता पखवाड़े के तहत जोधपुर मण्डल के सभी स्टेशनों पर स्वच्छ पर्यावरण हरित रेलवे दिवस मनाया गया।स्टेशनों पर पर्यावरण को बेहतर बनाने के लिए सभी विभागोंके कर्मचारियों ने स्वच्छता कार्यक्रम में भाग लिया। उन्होंने बताया कि मंडल के नागोर, बाड़मेर, पाली मारवाड, समदड़ी, डेगाना आदि स्टेशनों पर सेमिनार में स्वास्थ्य, वाणिज्य, परिचालन, आरपीएफए, इंजीनियरिंग आदि विभाग के कर्मचारियों एवं अधिकारियों ने भाग लिया।इस अवसर पर स्टेशनों पर पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने, पौधरोपण, वृक्षों कीदेखभाल करने के लिए जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किए गए। स्टेशन को प्लास्टिक मुक्त रखना, काम में ली गई प्लास्टिक की खाली बोतल को मशीन में नष्ट करने को लेकर यात्रियों को जानकारी...
more...
दी।
जवाई बांध कैचमेंट एरिये में सोमवार को हुई अच्छी बरसात से जवाई बांध का गेज मंगलवार सुबह 8 बजे तक 14 .70 फीट (961.10 mcft) पहुंच गया है। जवाई व सेई बांध में अब तक दिसम्बर माह तक जिलेवासियों की प्यास बुझाने जितना पानी आ गया हैं। जोधपुर से वॉटर ट्रेन फिलहाल नहीं मंगवाई जाएगी तथा डेड स्टोरेज का समय भी आगे खिसक गया है। नवम्बर के अंतिम में दोनों बांधों में पानी की स्थिति देखने के बाद वॉटर ट्रेन मंगवाने को लेकर निर्णय लिया जाएगा।
मौसम विभाग की माने तो अगले तीन दिन तक भी जिले में बरसात होने की संभावना है। अरावली की पहाड़ियों व जवाई बांध केचमेंट एरिए में अच्छी बरसात होती हैं तो सेई व जवाई बांध का
...
more...
जलस्तर और बढ़ सकता है। जिले के जवाई बांध के सहायक बांध कालीबोर में भी बरसाती पानी की आवक हुई है। बांध में 3.10 मीटर पानी हैं। जिसे नहर से सेई में और वहां से टनल के जरिए जवाई बांध तक लाने के प्रयास किए जाएंगे।
पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा सोजत में हुई बरसातसोजत – 16 एमएमजैतारण – 01 एमएममारवाड़ जंक्शर – 04 एमएमरानी – 13 एमएम(सोमवार सुबह 8 से मंगलवार सुबह 8 बजे तक)
इन बांधों क्षेत्र में भी हुई बरसातसरदारसमंद बांध – 1 एमएमसादड़ी बांध – 5 एमएमबाणियावास बांध – 2 एमएम
(सोमवार सुबह 8 से मंगलवार सुबह 8 बजे तक)
(फोटो- मांगीलाल परमार, सुमेरपुर)
Sep 04 (11:23) भास्कर पड़ताल:2 ट्रेन के 50 वैगन राेजाना 4 फेराें में लाएंगे 100 लाख लीटर पानी (www.bhaskar.com)
New/Special Trains
NWR/North Western
0 Followers
6924 views

News Entry# 463915  Blog Entry# 5058561   
  Past Edits
Sep 04 2021 (11:23)
Station Tag: Pali Marwar/PMY added by Saurabh®/1294142
Stations:  Pali Marwar/PMY  
पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े बांध जवाई में दिनोंदिन पानी कम हाे रहा है। इसकाे लेकर जिलेभर में 96 घंटे में एक बार पेयजल सप्लाई की जा रही है। शहरवासियाें काे अगले साल गर्मी के सीजन तक पानी पिलाने के लिए जलदाय विभाग ने पूरा प्लान भी तैयार कर लिया है। जाेधपुर से वाटर ट्रेन के जरिए पानी पहुंचाकर प्यास बुझाई जाएगी। दाे दिन पूर्व जलदाय विभाग के अधिकारियाें ने जाेधपुर पहुंच डीआरएम गीतिका पाण्डे से मुलाकात कर 31 अक्टूबर से वाटर ट्रेन पाली पहुंचाने की मांग की।
डीआरएम ने सहमति जताते हुए तय समय में वाटर ट्रेन पहुंचाने का आश्वासन भी दिया। रेलवे ने जलदाय विभाग की मांग के अनुसार ट्रेन के फेरे, वैगन समेत पूरे खर्चे का ब्याेरा भी भेज
...
more...
दिया है। अब जलदाय विभाग काे प्रारंभिक ताैर पर कितने दिन के लिए ट्रेन चलानी है, उसके अनुसार एडवांस राशि जमा करवानी हाेगी। इसके बाद ही रेलवे अपने मंडल से वैगन एकत्रित कर उनकी धुलाई कर पानी पहुंचाने की तैयारी करेगा।
अगले मानसून तक ट्रेन चलना प्रस्तावित, हर फेरे पर 3.80 लाख और हर दिन 15.2 लाख हाेंगे खर्च
जलदाय विभाग के अनुसार प्रति ट्रेन के एक फेरे पर 3.80 लाख रुपए खर्च हाेंगे। इसके हिसाब प्रतिदिन 4 फेराें में 15.2 लाख रुपए का खर्चा आएगा। अब 31 अक्टूबर 2021 से 30 जून 2022 तक कुल 273 दिन तक ट्रेन चलती है ताे 41 कराेड़ 49 लाख 60 हजार रुपए खर्च हाेने का अनुमान है।
1 वैगन में 50 हजार लीटर पानी आएगा, कुल 50 वैगन में 25 लाख लीटर पानी एक फेरे में पहुंचेगा
जलदाय विभाग के अधिकारियाें ने बताया कि प्रतिदिन 10 एमएलडी पानी के लिए 2 ट्रेन के जरिए 4 फेरे हाेंगे। इसमें एक ट्रेन में कुल 50 वैगन हाेंगे। प्रत्येक वैगन में 50 केएल (किलाेलीटर प्रतिदिन) यानी 50 हजार लीटर पानी हाेगा। इसके हिसाब से 50 वैगन में 25 लाख लीटर पानी आएगा। वहीं 4 फेराें में कुल 100 लाख लीटर पानी आएगा।
अभी बारिश का माैसम, मानसून का इंतजार
रेलवे ने ट्रेन का ब्याेरा दिया है। 31 अक्टूबर से ट्रेन चलाना प्रस्तावित है। 2 ट्रेन के जरिए 10 एमएलडी पानी पहुंचेगा। प्रतिदिन 4 फेरे हाेंगे। प्रत्येक फेरे पर करीब 3.80 लाख रुपए का खर्च आएगा। वर्तमान में बारिश का माैसम भी चल रहा है। जवाई में पानी आ जाता है ताे ट्रेन के समय में परिवर्तन भी हाे सकता है।
-जेपी शर्मा, एसई, जलदाय विभाग पाली
Copyright © 2021-22 DB Corp ltd., All Rights Reserved
This website follows the DNPA Code of Ethics.
पाली जिले में पेयजल संकट को देखते हुए जोधपुर से पाली पानी पहुंचने के लिए वॉटर ट्रेन संचालित करने की तैयारी कर रही हैं। इसको लेकर अब रेलवे ने जलदाय विभाग को पत्र लिखा हैं। जिसमें वॉटर ट्रेन के एक फेरे का खर्च 3.80 लाख बताया हैं। इस हिसाब से रोजाना वॉटर ट्रेन के 4 फेरों पर 15.2 खर्च होंगे। 1 अक्टूबर 2021 से 30 जून 2200 तक ट्रेन संचालित की जाती हैं तो 41 करोड़ 60 लाख रुपए खर्च होने का अनुमान हैं।
पश्चिम राजस्थान के सबसे बड़े बांध जवाई में इस बार पानी की आवक नहीं होने से पाली में पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। जवाई में दिनों दिन पानी कम हो रहा है। इसको लेकर जिलेभर
...
more...
में 96 घंटे में एक बार पेयजल सप्लाई भी की जा रही है। शहरवासियों की आगामी गर्मियों तक तक प्यास बुझाने के लिए जलदाय विभाग ने पूरा प्लान भी तैयार कर दिया है। जोधपुर से वॉटर ट्रेन के जरिए पानी पहुंचाकर प्यास भी बुझाई जाएगी। इसको लेकर दो दिन पूर्व जलदाय विभाग के अधिकारियों ने जोधपुर पहुंचकर रेलवे डीआरएम गीतिका पाण्डे से मुलाकात भी की। साथ ही 1 अक्टूबर से वॉटर ट्रेन पाली पहुंचाने की मांग भी की। इस पर डीआरएम ने भी सहमति जताते हुए तय समय में वॉटर ट्रेन पहुंचाने का आश्वासन भी दिया। रेलवे ने पाली जलदाय विभाग पानी की मांग के अनुसार ट्रेन के फेरे, वैगन समेत पूरे खर्चे का ब्यौरा भी भेज दिया है। अब जलदाय विभाग को प्रारंभिक तौर पर कितने दिन के लिए ट्रेन चलानी है, उसके अनुसार एडवांस राशि जमा करवानी होगी। इसके बाद ही रेलवे अपने मंडल से वैगन एकत्रित करने और उनकी धुलाई कर पानी के लिए तैयार करेगी। इसके बाद ही जोधपुर से पाली ट्रेन के जरिए पानी पहुंचेगा।
पाली को चाहिए प्रतिदिन 23 एमएलडी पानी
शहर में खपत 43 एमएलडी, अभी कटौती कर 23 एमएलडी किया, वॉटर ट्रेन चलेगी अब 17 एमएलडी देंगे। पाली शहर में प्रतिदिन 43 एमएलडी पानी की खपत होती है। वर्तमान में 96 घंटे में एक बार सप्लाई होने पर 23 एमएलडी तक पानी दिया जा रहा है। वर्तमान में जवाई में लाइव स्टोरेज चल रहा है। आगामी 21 सितंबर के बाद डेड स्टोरेज का पानी शुरू होगा। तब तक शहर में ऐसे ही पानी दिया जाएगा। जलदाय विभाग द्वारा धीरे-धीरे पानी कटौती भी की जाएगी। जवाई का पानी पूरा होने पर शहर में सप्लाई 16 से 17 एमएलडी तक लाया जाएगा। इसमें 10 एमएलडी वाटर ट्रेन से ओर शेष 6 से 7 एमएलडी पानी लोकल स्त्रोत जोगड़ावास व बाणियावास बांध से लिया जाएगा।
1 वैगन में 50 हजार लीटर पानी आएगा,
एक वैगन में 50 हजार लीटर पानी आएगा। कुल 50 वैगन में 25 लाख लीटर पानी एक फेरे में पहुंचेगा। जलदाय विभाग के अधिकारियों ने बताया कि प्रतिदिन 10 एमएलडी पानी के लिए 2 ट्रेन के जरिए 4 वॉटर ट्रेन के फैरे होंगे। इसमें एक ट्रेन में कुल 50 वैगन होंगे। प्रत्येक वैगन में 50 केएल (किलोलीटर प्रतिदिन) यानी 50 हजार लीटर पानी होगा। इसके हिसाब से 50 वैगन में 25 लाख लीटर पानी आएगा। वहीं 4 फेरों में कुल 100 लाख लीटर पानी आएगा।
रेलवे ने ब्यारा दिया है, 4 फेरों में 10 एमएलडी पानी आएगा
रेलवे ने ट्रेन का ब्यौरा दिया है। 1 अक्टूबर से ट्रेन चलाना प्रस्तावित है। 2 ट्रेन के जरिए 10 एमएलडी पानी पहुंचेगा। प्रतिदिन 4 फेरे होंगे। प्रत्येक फेरे पर करीब 3.80 लाख रुपए का खर्च आएगा। वर्तमान में बारिश का मौसम भी चल रहा है। जवाई में पानी आ जाता है तो ट्रेन के समय में परिवर्तन भी हो सकता है।- जेपी शर्मा, एसई, जलदाय विभाग पाली
राजस्थान में मानसून एक्टिव तो है, लेकिन इसकी सुस्ती ने यहां जल संकट खड़ा कर दिया है। हालात ये हैं कि पाली जिले में दो साल बाद फिर से वाटर ट्रेन चलाने की नौबत आ गई है। 21 सितंबर से ट्रेन के जरिए लोगों तक पानी पहुंचाया जाएगा। जयपुर, अजमेर, टोंक के अलावा इस बार पाली शहर और उससे लगते आस-पास के 8 शहरों और करीब 1,020 गांवों में भी पानी की किल्लत झेलनी पड़ेगी। ट्रेन के जरिए हर 4 दिन में एक बार पानी की सप्लाई करने की तैयारी है।
राजस्थान में इस बार बांधों में पानी का स्तर काफी कम है। 30 अगस्त तक सामान्य से 12 फीसदी कम बारिश के कारण स्थिति और विकट होती दिख रही है। प्रदेश
...
more...
के कुल 727 बांध में से 42% सूखे पड़े हैं। 303 बांध ऐसे हैं, जिनमें पानी बहुत कम बचा है। इनमें कुछ प्रमुख बांध ऐसे हैं जो पानी सप्लाई के हिसाब से अहम हैं। इनमें टोंक का बीसलपुर और पाली का जवाई बांध हैं।
21 सितंबर से पाली में चलेगी वाटर ट्रेन, 4 दिन में एक बार पानी की सप्लाईपाली जिले में पानी का सबसे बड़ा स्रोत जवाई बांध है। जवाई से पाली शहर समेत सुमेरपुर, रानी, फालना, बाली, जैतारण, सोजत, तखतगढ़, मारवाड़ जंक्शन में पानी सप्लाई होता है। इनके अलावा 1020 ऐसे छोटे-छोटे गांव हैं, जो पानी के लिए जवाई बांध पर निर्भर हैं। इस बांध में अब केवल 20 सितंबर तक का पानी बचा है।
पानी की सप्लाई करने वाले PHE डिपार्टमेंट के सुप्रीटेंडेंट इंजीनियर जगदीश प्रसाद शर्मा ने बताया कि जवाई बांध से 9 से 10 करोड़ लीटर (MLD) पानी रोज लिया जा रहा है, जो 20 सितंबर तक जारी रहेगा। 20 सितंबर के बाद बांध के डेड स्टोरेज से हर रोज 50-60 MLD पानी सप्लाई किया जाएगा, जो ज्यादा से ज्यादा 31 अक्टूबर तक चलेगा। इसे देखते हुए हमने 21 सितंबर से वाटर ट्रेन शुरू करने का निर्णय किया है। हर रोज 4 फेरों में यह ट्रेन करीब 10 MLD पानी जोधपुर से लेकर पाली पहुंचेगी।
जयपुर, अजमेर में भी बिगड़ सकते हैं हालातअगर आने वाले कुछ समय में बारिश ठीक से नहीं होती है तो पानी का संकट पाली ही नहीं बल्कि अजमेर, जयपुर और टोंक के कुछ क्षेत्रों को भी झेलना पड़ सकता है। इन तीन जिलों में करीब एक करोड़ की आबादी के लिए हर रोज बीसलपुर बांध से पानी सप्लाई किया जाता है। बांध का मौजूदा समय में गेज 310.66 आरएल मीटर है और इसमें कुल पानी 361.21 एमक्यूएम है, जो कुल भराव क्षमता (1095.84 एमक्यूएम) का करीब 33 फीसदी है।
बांध से हर रोज जयपुर शहर के अलावा चाकसू, दूदू, सांभर सहित अन्य कस्बों में 590 MLD, अजमेर जिले और उसके आस-पास के इलाकों में 305 MLD और टोंक के उनियारा-देवली के लिए 50 MLD पानी लिया जा रहा है। वहीं जल्द ही अब यहां पानी की कमी को देखते हुए PHED ने जयपुर के लिए बांध से 50 MLD पानी की सप्लाई घटा दी है।
अगर बांध में पानी नहीं आया तो यह सप्लाई आने वाले समय में और कम की जा सकती है। इसके साथ ही अजमेर में भी पानी की सप्लाई प्रभावत हो सकती है। अजमेर में वर्तमान में 2 दिन में एक बार पानी सप्लाई हो रहा है।
218 ट्यूबवेल खोदने की तैयारीPHED जयपुर के अधिकारियों की मानें तो बीसलपुर में अगर पानी कम रहता है तो फिर जयपुर में पानी की कटौती को पूरा करने के लिए ट्यूबवेल का सहारा लिया जाएगा। इसके लिए जयपुर में 218 अलग-अलग पॉइंट पर नए ट्यूबवेल खोदे जाएंगे, जबकि 146 पहले से खुदे हुए ट्यूबवेल का रिन्यूवल करवाया जाएगा। इन सभी ट्यूबवेल से कुल 106 MLD पानी लेने की प्लानिंग है।
बड़े बांधों में 67 फीसदी पानीराजस्थान में 14 जिलों में 22 बड़े बांध हैं, जिनमें पानी भराव की क्षमता 8104.66 मिलियन क्यूबिक मीटर है। इसमें जयपुर के दो बांध रामगढ़ और कालख सागर सूखे पड़े हैं। टोंक का टोरडी सागर और भीलवाड़ा का मेजा डेम भी खाली पड़े हैं। यहां 10 फीसदी भी पानी नहीं है। इन 22 में से 8 ऐसे बांध हैं, जो 30 फीसदी या उससे कम भरे हैं। इनमें राजसमंद का राजसमंद झील, पाली का जवाई और सरदार समंद, टोंक का टोरडी सागर शामिल है।
राजस्थान में सिर्फ 12 दिन बरसे मानसून का ऑडिट: सिरोही, जालोर, बाड़मेर और गंगानगर में अकाल जैसे हालात, राज्य का औसत आंकड़ा 12% से भी नीचे
Page#    Showing 1 to 20 of 29 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy