News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Tue Jan 23, 2018 18:05:42 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Tue Jan 23, 2018 18:05:42 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   
Page#    309074 news entries  next>>
  
Today (17:27)  बाइपास के आरओबी निर्माण के लिए तीन घंटे का ब्लॉक रहेगा (m.livehindustan.com)
back to top
ER/Eastern  -  

News Entry# 327723     
   Past Edits
Jan 23 2018 (17:27)
Station Tag: Akbarnagar/AKN added by amishkumar~/1702584

Jan 23 2018 (17:27)
Station Tag: Nathnagar/NAT added by amishkumar~/1702584
Stations:  Akbarnagar/AKN   Nathnagar/NAT  
 
 
बाइपास पर दोगच्छी के पास निर्माणाधीन आरओबी में गार्डर चढ़ाने के लिए 22 से 25 जनवरी तक दिन में तीन घंटे का ब्लॉक रहेगा। नाथनगर-अकबरनगर के बीच अप और डाउन लाइन पर दिन के 11.30 से 2.30 तक ब्लॉक रहेगा।
सोमवार को इस ब्लॉक के कारण भागलपुर- मुजफ्फरपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस आधे घंटे विलंब से रवाना हुई। हालांकि पहले दिन 12 से तीन बजे तक ब्लॉक रहा। इस दौरान अन्य कोई महत्वपूर्ण ट्रेनें बाधित नहीं हुई।
मुख्यालय के निर्देशानुसार ब्लॉक की अवधि ट्रेनों के आवागमन की स्थिति को देखते हुए आगे-पीछे भी किया जा
...
more...
सकता है। उसी अवधि में ब्लॉक देने का निर्देश दिया गया है जिससे ट्रेनों के आवागमन पर ज्यादा असर नहीं पड़े।
  
Today (16:04)  आ रही हैं दो नई वर्ल्ड क्लास ट्रेनें… (tz.ucweb.com)
back to top
New Facilities/Technology

News Entry# 327722     
   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
 
 
चेन्नै : रेलवे इस साल जून महीने तक अपनी तरह की पहली सेमी हाई स्पीड, स्वचालित ट्रेन लॉन्च करने जा रहा है। यह ट्रेन किसी सामान्य ट्रेनों के मुकाबले 20% कम वक्त में समान दूरी तय करेगी। चेन्नै स्थित रेलवे की इंटिग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) में ये ट्रेन सेट्स तैयार हो रहे हैं और 16 वातानुकूलित कोचों (फुली एयर-कंडीशंड कोचेज) वाली पहली ट्रेन जून 2018 तक बनकर तैयार हो जाएगी।
ट्रेन 18 के नाम से आ रही इस नई ट्रेन में यात्रियों के लिए वाई-फाई और इन्फोटेनमेंट, जीपीएस आधारित पैसेंजर इन्फर्मेशन सिस्टम और एलईडी लाइटिंग से लैस चमकदार आंतरिक साज-सज्जा समेत विश्वस्तरीय सुविधाएं उपलब्ध होंगी। ये नई ट्रेनें मौजूदा शताब्दी ट्रेनों की जगह लेंगी। ट्रेन 20 के नाम से दूसरी नई ट्रेन
...
more...
की लॉन्चिंग साल 2020 में होने की उम्मीद है। वे ट्रेनें भी विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस होंगी और इन्हें मौजूदा राजधानी ट्रेनों की जगह इस्तेमाल किया जाएगा।
आईसीएफ में इन दोनों ट्रेनों का निर्माण मेक इन इंडिया अभियान के तहत हो रहा है। इनके निर्माण की लागत विदेशों से आयात ट्रेनों की कीमत से आधी होगी। सिर्फ एक अंतर यह होगा कि ट्रेन 20 ऐल्युमिनियम बॉडी की होगी जबकि ट्रेन 18 की स्टेनलेस स्टील बॉडी होगी।
ईएमयू की जगह चलनेवाली नई ट्रेनों में समकालीन आधुनिक लुक के लिए कांच की लंबी-लंबी खिड़कियां, खुद-ब-खुद खुलने और बंद होनेवाले दरवाजे और सीढ़ियां होंगी जो स्टेशनों पर खुद-ब-खुद खुलेंगी और बंद होंगी। इन ट्रेनों में वैक्युम वाले बायो-टॉइलट्स होंगे। आईसीएफ के जनरल मैनेजर एस मणि ने कहा, ‘ट्रेन 18 160 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार पकड़ सकती है। इसमें विश्वस्तरीय यात्री सुविधाएं होंगी। पहली ट्रेन जून 2018 तक बनकर तैयार हो जाएगी।’
एक स्टडी से पता चला है कि इस ट्रेन से दिल्ली-हावड़ा रूट पर 1,440 किमी की दूरी तय करने में 3 घंटे 35 मिनट का समय बचेगा। राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनें 150 किमी प्रति घंटे तक की स्पीड से चल पाएंगी, लेकिन औसत रफ्तार 90 किमी की ही होगी। सफर के समय में कटौती का आकलन 130 किमी प्रति घंटे की स्पीड के आधार पर किया गया है। नई ट्रेनों को 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने की अनुमति मिलने पर मंजिल तक पहुंचने में और कम वक्त लगेगा।
  
Today (16:01)  बेगूसराय के यात्री मुंगेर पुल के रास्ते करेंगे सिकंदराबाद की यात्रा (tz.ucweb.com)
back to top
New/Special TrainsECR/East Central  -  

News Entry# 327721     
   Past Edits
Jan 23 2018 (16:01)
Station Tag: Begusarai/BGS added by amishkumar~/1702584

Jan 23 2018 (16:01)
Station Tag: Barauni Junction/BJU added by amishkumar~/1702584
 
 
मुंगेर रेल पुल के रास्ते बेगूसराय के रेलयात्री जल्द ही एक्सप्रेस ट्रेन से सफर कर सकेंगे। श्रीकृष्ण सेतु पर वर्षों से एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की मांग कर रहे लोगों को रेलवे आगामी 31 जनवरी से एक्सप्रेस ट्रेन में सफर करने का तोहफा देने जा रही है। फिलहाल स्पेशल ट्रेन ही सही, अगले छह माह तक जिले के रेल यात्री श्रीकृष्णसेतु होकर इस एक्सप्रेस ट्रेन का फायदा लेते रहेंगे।
रेलवे ने 31 जनवरी से बरौनी से सिकंदराबाद के बीच एक स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा की है। इस ट्रेन का सीधा फायदा बेगूसराय के रेलयात्रियों को मिलने वाला है। 07010 व 07009 नम्बर की ट्रेन 31 जनवरी से लेकर 28 जून तक हर हफ्ते चला करेगी। सिकंदराबाद जाने के लिए यह ट्रेन हर
...
more...
बुधवार को सुबह 7.10 में बरौनी से खुलकर 7.35 में बेगूसराय स्टेशन पहुंच 7.37 में प्रस्थान करते हुए अगले ही दिन सिकंदराबाद पहुंचेगी। वहीं, यह ट्रेन प्रत्येक रविवार को रात 10 बजे सिकंदराबाद से खुलकर मंगलवार की सुबह 11.05 बजे बेगूसराय स्टेशन व 11.40 बजे बरौनी जंक्शन पहुंचेगी। यानी, यह ट्रेन प्रत्येक बुधवार को बरौनी से व प्रत्येक रविवार को सिकंदराबाद से खुला करेगी।
कहां-कहां है ठहराव
इस ट्रेन का ठहराव बरौनी, बेगूसराय के अलावा साहेबपुरकमाल, जमालपुर, क्यूल, नवादा, गया, कोडरमा, गोमो, बोकारो, मुरी, राउरकेला, बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग, गोंदिया, नागपुर, रामागुंडम, काजीपेट के बाद सिकंदराबाद में दिया गया है। इस ट्रेन का फायदा जिले के लोगों को सीमावर्ती जिला व पड़ोसी राज्य झारखंड के प्रमुख जिला जाने में मिलेगा। रेल सूत्रों ने बताया कि फिलहाल यह ट्रेन स्पेशल के रुप में चलाई जा रही है। रेलवे इसे ट्रायल के रुप में भी देख रहा है। यात्रियों की डिमांड पर यह ट्रेन छह माह बाद स्थायी भी हो सकती है।
  
Today (15:58)  22 महीने में तैयार हो जाएगा जमालपुर का रेल सुरंग (tz.ucweb.com)
back to top
Rail BudgetER/Eastern  -  

News Entry# 327720     
   Past Edits
Jan 23 2018 (15:58)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by amishkumar~/1702584
Stations:  Jamalpur Junction/JMP  
 
 
अगले 22 महीने में जमालपुर के पास रेल सुरंग तैयार हो जाएगा। इसके बाद से मालदा से दिल्ली तक दोहरी रेललाइन तैयार हो जाएगी। ये बातें डीआरएम मोहित सिन्हा ने भागलपुर में अपने निरीक्षण के दौरान कहीं। डीआरएम ने बताया कि सुरंग के टेंडरिंग की प्रक्रिया शुरू हो गई है। टेंडर फाइनल होने में अधिकतम 90 दिन का समय लगता है। 30 दिन खत्म हो गये हैं। इसे बनने में 20 महीने लगेंगे यानी 22 महीने में यह रेल सुरंग बनकर तैयार हो जाएगा।
इस वित्त वर्ष में चालू हो जाएगा टेकानी माल गोदाम
इस
...
more...
वित्त वर्ष में टेकानी का माल गोदाम बनकर तैयार हो जाएगा और चालू भी कर दिया जाएगा। उस समय मक्के की लोडिंग वहां से शुरू हो जाएगी। इससे भागलपुर में ट्रकों का रैला खत्म हो जाएगा तो शहरवासियों को सुविधा हो जाएगी। टेकानी में गोदाम चले जाने पर नो इंट्री जैसी समस्या समाप्त हो जाएगी। वहीं से माल लोडिंग और अनलोडिंग होगी। भागलपुर से गोदाम टेकानी में चले जाने के कारण भागलपुर में इस जगह पर एलएचबी कोच के मेनटेनेंस का काम होगा। इसमें करीब 25 करोड़ रुपए खर्च होने हैं।
गंगा से पानी लाएंगे भागलपुर
डीआरएम ने बताया कि भागलपुर में रेलवे को पानी की बहुत आवश्यकता है लेकिन उस अनुसार पानी की उपलब्धता नहीं हो पा रही है। गर्मी में और परेशानी हो रही है। इसलिए बरारी के पास से गंगा से पाइपलाइन द्वारा पानी लाने का प्रस्ताव पहले ही भेजा गया है। यदि बोर्ड में प्रस्ताव पास हो जाएगा तो काफी फायदा होगा। इस योजना की स्वीकृति के बाद इसे पूरा होने में करीब 24 से 30 महीने लगेंगे।
पांच फरवरी को आएंगे महाप्रबंधक
पांच फरवरी को पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक भागलपुर सालाना निरीक्षण करने आएंगे। इसकी तैयारी के लिए डीआरएम शनिवार को भागलपुर पहुंचे थे और अधिकारियों के साथ बैठक की और कई निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि महाप्रबंधक किऊल से भागलपुर तक का निरीक्षण करेंगे। डीआरएम इसके पहले पुन: 27 जनवरी को भागलपुर आएंगे और तैयारियों को देखेंगे। उम्मीद है कि इस समय तक नई डीआरएम यहां पद संभाल लेंगी। डीआरएम ने बताया कि किऊल से भागलपुर तक विद्युतीकरण का काम जल्द हो जाएगा। उन्होंने कहा कि विक्रमशिला के बाद अन्य ट्रेनों में भी एलएचबी की प्रक्रिया शुरू होगी। अगली ट्रेन फरक्का हो सकती है जिसमें एलएचबी कोच लगेगा। उसके बाद अन्य ट्रेनों की भी बारी आएगी। इसके अलावा डीआरएम ने स्टेशन का भी निरीक्षण किया।
  
Today (14:50)  North Central Railway to train 65,000 employees in etiquette to serve passengers (m.timesofindia.com)
back to top
Other NewsNCR/North Central  -  

News Entry# 327719     
   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
 
 
In an attempt to improve its services to passengers, the North Central Railway (NCR) zone will train 65,000 grade C and D employees in basic etiquette. Officials said that these staffers will also be taught how to use computers and other gadgets so that they can assist passengers and also stay employable even after retirement.
All non-officer cadre employees, including station masters, train guards, train ticket examiners, loco-pilots, gangmen, electricians and other workers will attend special sessions organized by the Indian Railways in which they will be trained to be humble and will be prepared for future challenges.
Speaking
...
more...
to TOI, Sanchit Tyagi, divisional commercial manager, Agra, said, “The exercise will be carried out at a pan-India level. With the growing expectations of the passengers, employees need to enhance their current skillset. Based on KASH analysis program which stands for Knowledge, Attitude, Skill and Habit, we have started project Sakshsm under which we will overhaul our manpower so that our staff can compete with their counterparts in other commercial organizations. It’s a step to transform the railway working style — from stereotype government job to the most professional organization.”
Tyagi added, “The idea is to make all C and D grade employees aware about new technology and change in rules and regulations by the railways. Most importantly, they will have to learn etiquette to serve passengers.”
These employees will have to attend a five-day on-job or classroom training program at railway training centres, depending on the nature of their job. The short-duration training programs will have simple courses in hospitality and customer satisfaction.
“We will introduce guest lectures from different walks of life such as hospitality and IT who will teach new tricks of the trade to our men. The idea is to transform railway operations,” said Tyagi.
In Agra division of NCR zone, 15,000 railway employees will attend these sessions, while across India as many as 13 lakh workers will undergo training.
Page#    309074 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.