Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

এক রাজ্য, দুই রাণী।নাম তাদের, শালিমার ও আলিপুরদুয়ার রাজ্যরানী - Dip

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Jul 24 11:22:22 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search

NGO/Nagaur (2 PFs)
     नागौर

Track: Single Diesel-Line

Show ALL Trains
SH 19, Nagaur-Bikaner Road, Nagaur
State: Rajasthan

Elevation: 296 m above sea level
Zone: NWR/North Western   Division: Jodhpur

No Recent News for NGO/Nagaur
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 94
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 4.6/5 (14 votes)
cleanliness - excellent (2)
porters/escalators - good (2)
food - excellent (2)
transportation - excellent (2)
lodging - excellent (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - good (2)
safety - excellent (2)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 37 News Items  next>>
Jul 02 (07:41) यात्रियों के लिए जरूरी खबर:5 जुलाई से 19 जोड़ी ट्रेनें चलेगी, 3 नागौर में, उतर पश्चिम रेलवे जोन में ट्रेने संचालित करने का लिया निर्णय (www.bhaskar.com)
New/Special Trains
NWR/North Western
0 Followers
19647 views

News Entry# 457936  Blog Entry# 5002222   
  Past Edits
Jul 02 2021 (07:41)
Station Tag: Ajmer Junction/AII added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2021 (07:41)
Station Tag: Jodhpur Junction/JU added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2021 (07:41)
Station Tag: Bikaner Junction/BKN added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2021 (07:41)
Station Tag: Jaipur Junction/JP added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2021 (07:41)
Station Tag: Nagaur/NGO added by Adittyaa Sharma/1421836
उत्तर पश्चिम रेलवे जोन में कोरोना काल में बंद हुई 19 जोड़ी ट्रेनों को फिर से 5 जुलाई से संचालन शुरू किया जा रहा है। इसमें नागौर जिले में बीकानेर व जोधपुर से दिल्ली सराय रोहिल्ला जाने वाली संपर्क क्रांति, जोधपुर-रेवाड़ी सहित जोधपुर मंडल में पांच जोड़ी ट्रेनों का संचालन 5 से 9 जुलाई के बीच में शुरू होगा।
उत्तर पश्चिम रेलवे जोन के जयपुर, बीकानेर, जोधपुर, अजमेर मंडल के बार-बार ट्रेनों को संचालित करने के लिए पत्र भेजने पर आखिर रेलवे ने इस संबध में कवायद शुरू की है। रेलवे बोर्ड दिल्ली के प्रिंसिपल एक्जुकेटिव डायरेक्टर कोचिंग ने उत्तर पश्चिम रेलवे जोन के मुख्य परिचालन प्रबंधक व मुख्य यात्री प्रबंधक को बीस जोड़ी ट्रेनें संचालित करने के लिए निर्देशित किया। जोन
...
more...
में बीस जोड़ी ट्रेनों का संचालन 5 से 8 जुलाई के मध्य शुरू किया जा रहा है।
इसमें जोधपुर- रेवाड़ी 5 जुलाई से, रेवाड़ी- जोधपुर 7 जुलाई से, बीकानेर- दिल्ली सराय रोहिल्ला संपर्क क्रांति द्विसाप्ताहिक 6 जुलाई से, दिल्ली सराय रोहिल्ला-बीकानेर 9 जुलाई से, जोधपुर-दिल्ली सराय रोहिल्ला साप्ताहिक संपर्क क्रांति 8 जुलाई से, दिल्ली सराय रोहिल्ला-जोधपुर संपर्क क्रांति प्रत्येक गुरुवार को 7 जुलाई से संचालित होगी तथा जोधपुर मंडल में जोधपुर-जैसलमेर अप डाउन 5 जुलाई से, जोधपुर-गांधी धाम त्रिसाप्ताहिक 5 जुलाई से, गांधी धाम-जोधपुर त्रिसाप्ताहिक 6 जुलाई से संचालित की जाएगी।
नागौर जिले में दो ट्रेनों की मिलेगी सुविधा
संचालित ट्रेनों में जिले के वाशिंदों को बीकानेर-दिल्ली सराय रोहिल्ला, जोधपुर-दिल्ली सराय रोहिल्ला, जोधपुर-रेवाड़ी की सौगात मिलेगी।
Jun 27 (15:39) ओवरब्रिज के ‘अधूरे ढांचों’ ने बढ़ाई शहरवासियों की परेशानी (www.patrika.com)
Commentary/Human Interest
NWR/North Western
0 Followers
4216 views

News Entry# 457468  Blog Entry# 4996854   
  Past Edits
Jun 27 2021 (15:39)
Station Tag: Nagaur/NGO added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688
Stations:  Nagaur/NGO  
नागौर. शहर में रेलवे फाटकों पर बन रहे ओवरब्रिज द्रोपदी का ‘चीर’ बन गए हैं। बीकानेर रोड स्थित फाटक संख्या सी-61 पर ओवरब्रिज का निर्माण शुरू हुए चार साल हो गए, जबकि मानासर फाटक संख्या सी-64 पर पौने तीन साल से चल रहा है, इसके बावजूद दोनों आरओबी का काम अब तक मात्र 60 फीसदी ही पूरा हुआ है, जबकि वर्क ऑर्डर के अनुसार दोनों आरओबी का काम अब तक पूरा हो जाना था। ठेकेदार की लेटलतीफी एवं जिम्मेदारों की उदासीनता के कारण शहर के दोनों प्रमुख मार्गों पर खड़े किए गए अधूरे कंक्रीट के ढांचे शहरवासियों के लिए परेशानी का सबब बन चुके हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है।तीन महीने पहले 21 मार्च को केन्द्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अतिरिक्त महानिदेशक निर्मल कुमार एवं जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी के सामने हाथ जोडऩे वाला ठेकेदार इतना ढीठ हो चुका है कि उसने तीन महीने में...
more...
2 प्रतिशत काम भी पूरा नहीं करवाया। ठेकेदार ने 21 मार्च को अधिकारियों की फटकार के बाद 31 जुलाई तक काम पूरा करने का वादा किया था, लेकिन जैसे ही उसे छूट मिली तो अब अक्टूबर 2021 की बात करने लगा है। हालांकि जिस गति से काम चल रहा है, उसको देखते हुए अक्टूबर तक भी काम पूरा होता नहीं दिख रहा है। गौरतलब है कि मानासर रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज का निर्माण कार्य पी.आर.एल कंस्ट्रक्शन कंपनी तथा बीकानेर रेलवे फाटक पर बन रहे ओवरब्रिज का निर्माण कार्य गुरु नानक कंस्ट्रक्शन कंपनी के जिम्मे है।पहले 31 जुलाई, अब अक्टूबर 2021केन्द्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अतिरिक्त महानिदेशक ने 21 मार्च को दोनों ओवरब्रिज का निर्माण कार्य कर रही कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रतिनिधियों को जल्द से जल्द काम पूरा करने के निर्देश दिए थे। निरीक्षण के दौरान मौजूद कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रतिनिधियों ने अतिरिक्त महानिदेशक व जिला कलक्टर को बताया कि अपने नियत ओवरब्रिज का संपूर्ण निर्माण 31 जुलाई 2021 तक पूरा कर देंगे। लेकिन पिछले तीन महीने 3 फीसदी काम भी पूरा नहीं किया है और अब ठेकेदार 21 अक्टूबर की बात करने लगे हैं।ये है दोनों आरओबी का लम्बाई व बजटशहर में मानासर रेलवे फाटक पर निर्माणधीन ओवरब्रिज की कुल लबाई 1.173 किलोमीटर है। 29.23 करोड़ रुपए की लागत से बनाए जा रहे इस ओवरब्रिज का पिछले पौने तीन साल में 60 प्रतिशत कार्य पूरा हो पाया है। इसी प्रकार बीकानेर रेलवे फाटक पर बन रहे ओवरब्रिज की कुल लबाई 1.063 किलोमीटर है। 19.37 करोड़ रुपए की लागत से बनाए जा रहे इस ओवरब्रिज का चार बाद मात्र 59 प्रतिशत काम पूरा हुआ है।अधिकारियों पर भारी ठेकेदार के रसूखात आरओबी निर्माण में हो रही देरी को लेकर अधिकारियों के पास कहने को कुछ नहीं है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ठेकेदार के रसूखातों के आगे अधिकारी उन्हें खींचकर कुछ कह भी नहीं सकते। पूर्व में एक अधिकारी ने भुगतान रोकने का प्रयास किया तो उसका तबादला हो गया। कुछ अधिकारी दबे स्वर में यह भी कह रहे हैं कि ठेकेदार को खुद सरकार के मंत्री और जनप्रतिनिधि संरक्षण दे रहे हैं, इसलिए अधिकारी उन्हें सख्ताई से कहकर अपनी कुर्सी खतरे में नहीं डालना चाहते। जनता चाहे कितनी परेशान हो। अब तो स्थिति यह है कि एनएच के एक्सईएन मुकेश शर्मा ने संवाददाता का फोन उठाना ही बंद कर दिया है।
Jun 17 (18:22) 24 घंटे में 70 बार बंद होता है रेलवे फाटक, रोज लगता दो किमी लंबा जाम (www.patrika.com)
NWR/North Western
0 Followers
5367 views

News Entry# 456350  Blog Entry# 4988180   
  Past Edits
Jun 17 2021 (18:22)
Station Tag: Nagaur/NGO added by महाँकाल एक्सप्रेस/1084688
Stations:  Nagaur/NGO  
रेण (नागौर). अजमेर-बीकानेर सडक़ मार्ग स्थित रेण रेलवे गेट संख्या सी-85 पर ओवर ब्रिज के अभाव में ट्रेनों के आवागमन के दौरान फाटक के दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतारें लग जाती हैं। कई बार वाहनों को गलत दिशा में खड़ा कर देने से समस्या और भी बढ़ जाती है।बुधवार सुबह पौने 7 बजे जोधपुर-जयपुर इंदौर एक्सप्रेस ट्रेन आने पर बंद हुए रेलवे फाटक के दोनों वाहनों की कतारें लग गई। इस दौरान कुछ वाहन चालकों ने वाहनों को गलत दिशा में खड़ा कर दिया। जिससे ट्रेन निकलने के बाद फाटक खुलने पर मुख्य ट्रेक पर वाहनों की लाइनें लग गई।दरअसल रेलवे गेट सी-85 पर ऐसी स्थिती दिन में कई बार देखने को मिलती है। गौरतलब है कि इसी समस्या को देखते हुए ग्रामीणों द्वारा बार-बार ओवर ब्रिज निर्माण की मांग की जा रही है, लेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। रेलवे सूत्रों के अनुसार इन दिनों...
more...
रेण रेलवे फाटक 24 घंटे में 70-75 बार बंद होता है। वही लॉकडाउन से पहले 24 घंटे में 150 ट्रेनों का आवागमन होता था। ऐसे में बार-बार बंद फाटक व लम्बे जाम से बड़ी परेशानी होती है। ग्रामीणों ने राजसमंद सांसद दीया कुमारी, नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल के नाम ग्राम सरपंच रामकिशोर मेघवाल को पत्र भेजकर उक्त समस्या से निजात दिलाने की मांग की है।रेण बाइपास सडक़ कार्य अधूरा इधर, एनएच 89 को जोडऩे वाले रेण बाइपास सडक़ निर्माण कार्य भी अधूरा पड़ा है। एनएच 89 को जोडऩे वाला ये बाइपास रेण रेलवे फाटक पर मिलता है। बड़े वाहनों की आवाजावी के लिए बनने वाला ये बाइपास कार्य लम्बे समय से अधूरा पड़ा है। इस बाइपास के अधूरे रहने का मुख्य कारण बाइपास सडक़ मार्ग के दोनों ओर खेतों के मालिकों को मुआवजा नहीं मिलना है। लम्बे समय से इस पर विवाद चल रहा है।
जिले के मिर्जास और खजवाना गांव के बीच रविवार सुबह 25 साल का एक युवक ट्रेन हादसे का शिकार हो गया। युवक वहां रेलवे ट्रेक के पास बकरियां चरा रहा था, इसी दौरान अचानक ट्रेन आ गई और वह उसकी चपेट में आ गया। ट्रेन की टक्कर के बाद वह दूर जा गिरा और उसका सर फट गया।
घायल युवक को ट्रेन में ही मुंडवा रेलवे स्टेशन तक लाया गया और यहां पहुंची 108 एम्बुलेंस की सहायता से नागौर के JLN अस्पताल ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत के चलते डॉक्टरों ने उसे जोधपुर रैफर कर दिया।
मामला
...
more...
मिर्जास और खजवाना गांव के बीच रेलवे ट्रेक का है। यहां सुबह बकरियां चराते वक्त मुकेश पुत्र बीरबल चौकीदार (25) निवासी पालड़ी जोधा रेल हादसे का शिकार हो गया। हादसे की सूचना पर घायल युवक के परिजन भी अस्पताल पहुंच गए। JLNअस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत के चलते डॉक्टरों ने उसे जोधपुर रैफर कर दिया है।
7 राज्यों मेंं कोरोना के मरीज बढ़ने के बाद प्रदेश में जारी हुए अलर्ट पर महाराष्ट्र एवं केरल सहित अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों की विशेष जांच के आदेशों की सोमवार को दूसरे ही दिन रेलवे स्टेशन पर धज्जियां उड़ती दिखाई पड़ी। रेलवे स्टेशन पर सुबह नौ बजे जब दादर-बीकानेर एवं अन्य ट्रेनें आईं तो स्टेशन के मुख्यद्वार से गुजरने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग करना तो दूर मौके पर कोई टोकने वाला भी मौजूद नहीं था। यात्री एवं उनके परिजन बगैर किसी रोक-टोक के रेलवे स्टेशन के भीतर आना-जाना करते दिखाई पड़े।
इनमें से कईयों के तो मास्क भी गायब थे। रेलवे स्टेशन पर पूर्ण सुरक्षा बरतने के आदेशों के बाद यह हकीकत भास्कर की ओर से किए गए रियल
...
more...
चेक के दौरान सामने आई है। हालांकि रेलवे स्टेशन के भीतर आने-जाने के द्वार के ठीक बगल में एक टेबल एवं बैंच रखी हुई मिली, जहां संभवत आने जाने वाले यात्रियों को रोकने एवं टोकने के लिए कार्मिक बैठते होंगे, लेकिन सुबह के समय वहां एक भी कार्मिक बैठा हुआ नहीं था। उल्लेखनीय है कि रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों के मास्क तक नहीं पहना हुआ होता है और उन्हें रोकने-टोकने वाला भी कोई नहीं है। आमजन को भी यह समझना चाहिए कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में लापरवाही भारी पड़ सकती है।
भास्कर रियल चेक के दौरान सुबह नौ बजे आई हकीकत, बगैर मास्क यात्रियों को स्टेशन पर कोई टोकने वाला भी नहीं
प्रत्येक यात्री की स्क्रीनिंग व रिकॉर्ड सुरक्षित रखना था
रेलवे स्टेशन पर महाराष्ट्र, केरल व अन्य राज्यों से आने वाले प्रत्येक यात्रियों की टीम लगाकर स्क्रीनिंग करवाई जानी थी। यह भी सुनिश्चित करना था कि टीम के साथ थर्मल स्क्रेनर, प्लस ऑक्सीमीटर रजिस्टर हो इससे रेलवे स्टेशन पर प्रत्येक यात्रियों की जांच की जा सके और प्रत्येक यात्री का विवरण इन्द्राज किया जा सके। यात्री अपनी आरटीपीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करता है तो उस यात्री को घर भिजवाना सुनिश्चित कराया जाए। जो यात्री अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं करता है तो उस यात्री को होम क्वारेंटाइन करते हुए उन सभी यात्रियों का सैंपल करवाया जाए। सैंपल नेगेटिव या पॉजिटिव आने पर ही आगे की कार्रवाई हो।
मंगलवार को सर्वाधिक ट्रेनें आती हैं
रेलवे कार्मिकों से प्राप्त जानकारी के अनुसार नागौर में ट्रेनों के 17 चरण हैं, लेकिन सर्वाधिक ट्रेनें मंगलवार को ही आती हैं। ऐसे में मंगलवार को सर्वाधिक ध्यान देने की आवश्यकता रहती है। मंगलवार को ट्रेनें दिल्ली, मुंबई, हावड़ा, कोच्चीवली, बैंगलुरु, जशवंतपुर सहित अन्य कई जगहों के लिए ट्रेनें हैं। ऐसे में यात्रियों का फुटपाथ भी काफी रहता है। ऐसे में चिकित्सा विभाग की ओर सेक लापरवाही बरती जाती है तो यह नागौर के लिए भारी भी पड़ सकती है। कोरोना के अलर्ट के बावजूद रेलवे स्टेशन पर यात्री तो बेखौफ हैं ही साथ में रेलवे स्टेशन पर खाद्य सामग्री की बिक्री करने वाले ट्रॉली संचालक भी लापरवाह बने हुए हैं। सुबह पड़ताल के दौरान कई ट्रॉली संचालकों के पास मास्क नहीं थे। ये बगैर मास्क के ही खाद्य सामग्री को इधर-उधर करने का कार्य करते दिखाई पड़े। यह स्थिति उस समय थी जब दादर बीकानेर ट्रेन आई थी और बीकानेर से एक ट्रेन स्टेशन पर रुकी थी।
Page#    Showing 1 to 20 of 37 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy