Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Talk to a RailFan - you will learn a LOT about Trains.

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Tue May 26 21:48:16 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Saurabh®^~

Page#    Showing 1 to 5 of 2456 news entries  next>>
  
Yesterday (23:10) कटरा, विरमगाम, अहमदाबाद से 1528 श्रमिक ट्रेन से आए चांपा (www.bhaskar.com)
New/Special Trains
SECR/South East Central
0 Followers
574 views

News Entry# 409248  Blog Entry# 4636909   
  Past Edits
May 25 2020 (23:10)
Station Tag: Janjgir Naila/NIA added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Janjgir Naila/NIA  
जांजगीर. गुजरात सहित अन्य राज्यों से जांजगीर-चांपा जिले के प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला जारी है। शनिवार को सुबह से दोपहर तक गुजरात के विरमगाम, अहमदाबाद और जम्मू-कटरा से 3 ट्रेन चांपा पहुंची। इनमें कुल 1528 श्रमिकों का चांपा पहुंचे। इनमें 1439  जांजगीर-चांपा जिले के और 89 यात्री अन्य जिलों के शामिल हैं। अहमबाद वाली ट्रेन सुबह 3.30 बजे, विरामगम से आई ट्रेन सुबह 8.30 बजे और कटरा जम्मू से वाली ट्रेन दोपहर 1 बजे चांपा स्टेशन पहुचीं। सभी श्रमिकों को ट्रेन से सुरक्षित उतार कर और उनका थर्मल स्क्रीनिंग तथा स्वास्थ्य जांच कर विभिन्न बसों से क्वारेंटाइन सेंटर के लिए रवाना किया गया।  पैदल आ रहे मजदूरों को नाश्ता कराकर गांव तक पहुंचाया
  
भोपाल: कोरोना वायरस की महामारी के बीच प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए जिन ट्रेनों को व्‍यवस्‍था की गई है, उनमें खाने के सामान की लूटपाट की घटनाएं आम होती जा रही है. सुबह करीब 8:05 बजे मध्‍य प्रदेश के इटारसी जंक्‍शन पहुंची 1869 श्रमिक स्पेशल एक्सप्रेस के यात्रियों ने उन्हें देने के लिये लाए गये खाने में लूटपाट शुरू कर दी. प्रवासी श्रमिकों को खाने की सामान को लेकर छीनाझपटी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. ट्रेन में सवार प्रवासी मजदूरों को देने के लिए स्टेशन के प्लेटफार्म पर एक ट्रॉली में ब्रेड के पैकेट रखे थे. इस बीच करीब तीन बोगियों से यात्री इस खाने के पैकेट देखकर नीचे उतरे. वहां तैनात रेलवे कर्मचारियों और गार्ड ने सभी को बोगियों में वापस जाने के लिए कहा लेकिन तभी दूसरी बोगी से एक यात्री दौड़ता हुआ आया और एक पैकेट उठाकर भागने लगा. इसके बाद तो...
more...
सभी यात्रियों ने जो पैकेट जिसके हाथ आया, उसे उठाकर भागना शुरू कर दिया. महज दो मिनट में ट्राली को खाली कर दिया.. वहां तैनात गार्ड ने उन्हें रोकने की कोशिश की लेकिन किसी ने उनकी एक नहीं सुनी.ये तस्वीरें मध्यप्रदेश के इटारसी स्टेशन की हैं बताया जा रहा है कि इंतज़ाम 1869 #श्रमिक_स्पेशल_ट्रेन स्पेशल के यात्रियों के लिये था लेकिन ट्रेन रूकते ही भूखे मुसाफिरों ने खाने में लूटपाट शुरू कर दी @ndtvindia@ndtv@PiyushGoyal#MigrantWorkers#ShramikSpecialTrains#covid1948pic.twitter.com/pvXC7hN4IA— Anurag Dwary (@Anurag_Dwary) May 25, 2020
इस बीच, लॉकडाउन के बावजूद देश में कोरोना वायरस के केसों की संख्‍या बढ़ते हुए 1 लाख 38 हजार के पार पहुंच गई है.देश में सोमवार को यानी 25 मई को लगातार चौथे दिन, एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक मामले सामने आए. पिछले 24 घंटे में 6,977 नये मामले सामने के बाद देश में संक्रमण के कुल मामले 1,38,845 हो गए हैं जबकि मृतक संख्या 4,021 हो गई है. पिछले 24 घंटों में 154 लोगों की जान गई है. पिछले 24 घंटों में सामने आए नए मामलों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है. इससे पहले रविवार को 6767 नए मरीज़ मिले थे. हालांकि, राहत की बात यह है कि 57721 मरीज़ कोरोना को मात देने में कामयाब हुए हैं.
  
पीयूष गोयल ने ट्वीट करते हुए उद्धव ठाकरे से 125 ट्रेनों के लिए मजदूरों की सूची और अन्य डिटेल्स मांगी थी। इस ट्वीट के बाद 46 ट्रेन की लिस्ट भेजकर संजय राउत ने कहा कि सिर्फ विनती यही है कि ट्रेन जिस स्टेशन पर पहुंचनी चाहिए उसी स्टेशन पर पहुंचे।
मुंबई
देशभर में प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के बीच गैर बीजेपी राज्य की सरकारों और केंद्र के बीच श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन के संचालन को लेकर खींचतान जारी है। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की ओर से हर रोज 100 ट्रेन चलाने की
...
more...
बात कहने के बाद पीयूष गोयल ने उनसे 125 ट्रेन के मजदूरों की लिस्ट मांगी तो शिवसेना भी इस द्वंद युद्ध में कूद पड़ी। देर रात तक पीयूष गोयल ट्विटर पर शिवसेना की खिंचाई करने की कोशिश करते रहे। इसी बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र ने रेलवे को 46 ट्रेनों की सूची दे दी है, पर पीयूष गोयल जी से विनती है कि ट्रेन वहीं पहुंचे जहां उसे पहुंचना है। गोरखपुर की ट्रेन ओडिशा ना पहुंच जाए।
पूरा विवाद उद्धव ठाकरे के उस संदेश के बाद शुरू हुआ, जो उन्होंने महाराष्ट्र के लोगों के लिए रविवार रात जारी किया था। उद्धव ने कहा था कि वह प्रवासियों के लिए 100 ट्रेन चलाना चाहते हैं, लेकिन केंद्र सरकार हर रोज इसकी आधी ट्रेन ही दे पा रही है। इस बयान के कुछ देर बाद पीयूष गोयल ने अपने ट्वीट में लिखा 'उद्धव जी, आशा है आप स्वस्थ है, आपके अच्छे स्वास्थ्य के लिए शुभेच्छा। कल हम महाराष्ट्र से 125 श्रमिक स्पेशल ट्रेन देने के लिए तैयार है। अपने बताया की आपके पास श्रमिकों की लिस्ट तैयार है। इसलिए आपसे अनुरोध है कि सभी निर्धारित जानकारी जैसे, कहां से ट्रेन चलेगी, यात्रियों की ट्रेनों के हिसाब से सूची, उनका मेडिकल सर्टिफिकेट और कहां ट्रेन जानी है, यह सब सूचना अगले एक घंटे में मध्य रेलवे के महाप्रबंधक को पहुँचाने की कृपा करे, जिससे हम ट्रेनों की योजना समय पर कर सके।'
राउत ने ट्वीट करके कहा- भेजी है 46 ट्रेन की लिस्ट
पीयूष गोयल ने इसके बाद कई ट्वीट करके बताया कि उन्हें अब तक कोई लिस्ट नहीं मिली। हालांकि इस बीच शिवसेना के सांसद संजय राउत ने रात करीब पौने 11 बजे ट्वीट करते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने रेलवे मंत्रालय को अपेक्षित गाड़ियों की सूची दी है। पीयूष जी से सिर्फ विनती यही है कि ट्रेन जिस स्टेशन पर पहुंचनी चाहिए उसी स्टेशन पर पहुंचे। गोरखपुर के लिए जाने वाली ट्रेन उड़ीसा न पहुंच जाए।'
Sanjay Raut

@rautsanjay61
महाराष्ट्र सरकार ने रेलवे मंत्रालय को अपेक्षित गाड़ियों की सूची दी है। पीयूष जी @PiyushGoyal से सिर्फ विनती यही है कि ट्रेन जिस स्टेशन पर पहुंचनी चाहिए उसी स्टेशन पर पहुंचे। गोरखपुर के लिए जाने वाली ट्रेन उड़ीसा न पहुंच जाए।
@AUThakeray@CMOMaharashtra@PawarSpeaks
14.5K
10:46 PM - May 24, 2020
Twitter Ads info and privacy
4,682 people are talking about this
रात 2 बजे बोले गोयल- सिर्फ 41 ट्रेन चला सकते हैं
इसके बाद रात सवा दो बजे ट्वीट करते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार की ओर से हमें सिर्फ 46 ट्रेनों की लिस्ट मिली है। इनमें से 5 की मांग पश्चिम बंगाल और ओडिशा के लिए हैं। इन पांच ट्रेनों को फिलहाल अम्फान साइक्लोन के कारण हुए नुकसान को देखते हुए नहीं चलाया जा सकता, हम आज 125 ट्रेनों के लिए तैयार हैं लेकिन फिलहाल 41 की ही घोषणा कर पा रहे हैं।
पूर्व में होता रहा है आरोप-प्रत्यारोप
दरअसल, श्रमिक ट्रेनों के संचालन को लेकर महाराष्ट्र और केंद्र के बीच पहले भी कई बार विवाद की स्थिति बनती रही है। ये हालत तब है जब कि रेलमंत्री खुद महाराष्ट्र से आते हैं। पूर्व में महाराष्ट्र की सरकार ये आरोप लगा चुकी है कि प्रदेश में महाविकास अघाड़ी की सरकार होने के कारण उन्हें ट्रेन नहीं मिल रही, जबकि बीजेपी के राज्यों को बिना मांगे गाड़ियां मिल जा रही हैं।

24 Public Posts - Yesterday

268 views
Yesterday (23:08)
Rail Fanning~   4511 blog posts
Re# 4636780-25            Tags   Past Edits
This is bound to open. The moment we have opened up travel, there will obviously be increase in cases...people travelling within India and people coming from outside of India. Public has to be responsible and take precautions....looks that is the only way out. Important thing to ensure is more cured cases.

268 views
Yesterday (23:16)
✌️🌟Railway Playing with migrants🌟✌️^~   3971 blog posts   493 correct pred (80% accurate)
Re# 4636780-26            Tags   Past Edits
Sab kuch Public par chhod dena bhi koi solution nhi hai... Aakhir Corona ko control karne ki responsibility Govt. Ki hi hai..
If we think deeply, govt. has started coming out of Lockdown this is what was done by America and now they are suffering with over 99,000 deaths..
Sadly, India is also leading towards worse situation and it will.. as few people doesn't bother about thier health.
It's
...
more...
typical Indian mindset like "Corona humko nhi ho skta"
Corona Peak is expected to come next month. And then it would take another 2-3 months to Control Corona.
.
I think , govt. As well as the public is taking Corona too Lightly.

140 views
Today (07:23)
Save tirumala hills from ap govt~   1545 blog posts   24 correct pred (77% accurate)
Re# 4636780-27            Tags   Past Edits
No
Check your facts

139 views
Today (07:29)
❤️ राँझना हुआ मैं तेरा ❤️^~   84534 blog posts   49077 correct pred (79% accurate)
Re# 4636780-28            Tags   Past Edits
Maha govt me agent wala kaam ho rha h
Pese le k migrants ko bheja ja rha h
Mere frnd ki family ko aana tha
Registration b kia tha
But agent and bribes
Jb
...
more...
malum chla ki 1 june se train h available to vo log 18 june ki ticket le k aae..
Aur ye sb jyda issue inke sath hi ho rhe h
.
Opposition govt jharkhand, orissa me b h
Vo log sbse phle train chala k show kr diye the..

138 views
Today (07:31)
❤️ राँझना हुआ मैं तेरा ❤️^~   84534 blog posts   49077 correct pred (79% accurate)
Re# 4636780-29            Tags   Past Edits
Same.. idhar panipat me sb shi tha sb ghar ja chume the recovery k ly
Jese hi delhi border khola
Dozens cases fir se 😑
.
State govts are playing like football with each other..
...
more...

Football-common people
  
May 24 (22:13) घरेलू उड़ानों, रेलगाड़ी से छत्तीसगढ़ आ रहे यात्रियों का क्वरंटाइन में रहना अनिवार्य (khabar.ndtv.com)
New/Special Trains
SECR/South East Central
0 Followers
602 views

News Entry# 409189  Blog Entry# 4636385   
  Past Edits
May 24 2020 (22:14)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Raipur Junction/R  
छत्तीसगढ़ सरकार ने नए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. सरकार ने घरेलू उड़ानों और सामान्य ट्रेनों से छत्तीसगढ़ आ रहे यात्रियों का पृथक-वास में रहना अनिवार्य करने का फैसला किया है. राज्य प्रशासन ने यात्रियों को नियमों का पालन करने का निर्देश जारी किया है.  राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने रविवार को यहां बताया कि राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग ने निर्देश जारी कर कहा है कि अन्य राज्यों से छत्तीसगढ़ लौटने के इच्छुक लोगों को संबंधित राज्य से प्रस्थान के पूर्व स्वयं को छत्तीसगढ़ के पोर्टल पर पंजीकृत करना होगा.
जिलाधिकारी इस सूचना के आधार पर संबंधित ग्राम पंचायत या शहरी वार्ड के मुख्य अधिकारी को सूचित करते हुए घर में पृथक-वास, शासकीय पृथक-वास या पैसा देकर पृथक-वास में रहने संबंधी
...
more...
प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराएंगे.अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस  संक्रमण से बचाव के लिए विमानतल, रेलवे स्टेशनों पर समुचित संख्या में सुविधा केंद्र स्थापित किए जाएंगे. इन सुविधा केन्द्रों में आवश्यक स्वास्थ्य परीक्षण के लिए हेल्थ डेस्क भी होगा. रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानलत में विमान के उतरने के बाद यात्री नियंत्रित रूप से विमान से बाहर निकलेंगे (एक बैच में 20 यात्री) और हाथ में रखे गए सामान के साथ सुविधा केंद्र पहुचेंगे जहां आवश्यक विवरण दर्ज करने के बाद उनकी थर्मल स्क्रीनिंग सहित स्वास्थ्य जांच की जाएगी.उन्होंने बताया कि जिन यात्रियों में लक्षण मिलेंगे उन्हें अलग कर विमानतल पर अलग से स्थापित किए गए पृथक कियोस्क में भेजा जायेगा जहां उनका नमूना लेकर उन्हें जिला प्रशासन द्वारा स्थापित पृथक केंद्र में भेज दिया जाएगा. ऐसे यात्रियों का चेक-इन बैगेज कन्चेयर बेल्ट से लेकर उन्हें एम्बुलेंस या वाहन तक पहुंचाने का उत्तरदायित्व संबंधित एयरलाइन के ग्राउंड स्टाफ का होगा.वहीं लक्षणरहित यात्रियों को शासकीय पृथक केंद्र, घर में पृथक-वास या ऐच्छिक आधार पर उन पृथक-वास केंद्र में भेजा जाएगा जिसके लिए पैसा वसूला जाएगा. सभी यात्रियों को लिखित में देना होगा कि वे 14 दिन तक पृथक-वास के सभी नियमों का कड़ाई से पालन करेंगे. सभी यात्रियों के सामान पर नगर निगम द्वारा कीटाणुनाशक घोल का छिड़काव किया जाएगा.अधिकारियों ने बताया कि यात्रियों के बोर्डिंग पास तथा वाहन चालक के ई-पास के आधार पर ही उन्हें विमानतल परिसर में आवागमन की अनुमति प्रदान की जाएगी. प्रत्येक वाहन का विवरण, चालक और यात्री की सम्पूर्ण जानकारी परिवहन विभाग द्वारा जुटाई जाएगी.हवाईअड्डे और रेलवे स्टेशन पर चिन्हित वाहन, टैक्सी और बस को अनुमति दी जाएगी. उन्होंने बताया कि संबंधित जिला प्रशासन सभी पृथक-वास केंद्रों की सतत निगरानी और सुरक्षा सुनिश्चित करेंगे. यात्रियों के घर में पृथक-वास की प्रभावी व्यवस्था नहीं हो पाने की स्थिति में उन्हें शासकीय पृथक-वास केंद्र या इच्छानुसार पेड पृथक-वास केंद्र में रखा जाएगा.यदि घर में पृथक-वास में रह रहे यात्रियों में से किसी में लक्षण पैदा होते हैं तो तत्काल उसकी सूचना संबंधित ग्राम पंचायत या शहरी वार्ड के नोडल अधिकारी द्वारा 104 हेल्पलाइन नंबर पर दी जाएगी.चिकित्सकीय परामर्श के अनुसार आवश्यकता होने पर उस यात्री को तत्काल जिले के पृथक केंद्र में स्थानांतरित किया जाएगा.  अधिकारियों ने बताया कि क्वारंटाइन के दिशा-निर्देशों के उल्लंघन की स्थिति में संबंधित व्यक्ति के खिलाफ नियमानुसार सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.  देश में कोरोना संक्रमण के बीच 25 मई से घरेलू उड़ान सेवा तथा एक जून से रेल सेवा प्रारंभ करने का फैसला किया गया है.  (हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
  
Coronavirus: बिहार के खगड़िया से ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जो सरकार के दावे की पोल खोलती नजर आ रही हैं. इन तस्वीरों में मजदूर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते दिख रहे हैं. खगड़िया का एक वीडियो सामने आया है जिसमें श्रमिक ट्रेन में सफर पूरा करने के बाद मजदूरों की क्वारंटाइन सेंटर पर जाने से बचने की तरकीब उजागर हुई है. मजदूर ट्रेन के बीच में ही वैक्यूम कर उतर गए. इसके अलावा रेलवे लाइन के बगल से पैदल जा रहे श्रमिक ट्रेन को रुकता देखकर उस पर चढ़ने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग को ताक में रखकर जोरअजमाइश करते हुए दिखे.
मजदूरों को जिन स्पेशल ट्रेनों के जरिए उनके घरों तक पहुंचाया जा रहा है वे ट्रेनें बीच में कहीं नहीं
...
more...
रुकनी चाहिए. बीच में उतरना बिल्कुल मना है. लेकिन फिर भी कुछ मजदूर क्वारंटाइन सेंटर में जाने से बचने के लिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं कि जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ गया है. इस बात को एक वीडियो साफ कर रहा है.बिहार के खगड़िया के वीडियो में रेलवे द्वारा चलाई गई स्पेशल ट्रेन नजर आ रही है. यह ट्रेन प्रवासी मजदूरों को कटिहार ले जा रही थी. जब यह ट्रेन मजदूरों को लेकर खगड़िया से गुजर रही थी तो अचानक रुक गई और सैकड़ों मजदूर ट्रेन से नीचे उतर गए. यह मजदूर ऐसे हैं जो क्वारंटाइन सेंटर में जाने से बचने के लिए ट्रेन के स्टेशन पहुंचने से पहले ही चेन पुलिंग करके ट्रेन को रोक देते हैं. ट्रेन रुकने पर वे उतरकर पैदल ही अपने-अपने गांव की तरफ निकल जाते हैं. बहुत से मजदूर ऐसे हैं जो चलती ट्रेन से कूदकर उतर जाते हैं.
Page#    2456 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy