Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

हमसे सीखे कोई जीने का सलीका। सफर कैसा भी हो, मौज़ उडाये जाते हैं।। - Amir

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Jan 22 10:31:09 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by भारतीय

Page#    Showing 1 to 5 of 3676 news entries  next>>
हमारे देश में ट्रेन 2 पटरियों पर चलती है. लेकिन क्या आपने कभी ऐसा रेलवे ट्रैक देखा है जहां 2 नहीं 3 पटरियों का इस्तेमाल होता है? ऐसा होता है, हमारे पड़ोसी देश बांग्लादेश (Bangladesh) में. आइए समझते हैं इस अनोखे ट्रैक के बारे में

नई दिल्ली: रेलवे को देश की लाइफलाइन कहते हैं. हमारे देश में हजारों लोग प्रतिदिन ट्रेन (Train) में सफर करते हैं. ट्रेन का सफर करना बहुत ही सस्ता माना जाता है. ज्यादातर लोग लंबी दूरी के लिए ट्रेन में सफर करना पसंद करते हैं. आपने देखा ही
...
more...
होगा कि हमारे देश में ट्रेन 2 पटरियों पर चलती है. लेकिन क्या आपने कभी ऐसा रेलवे ट्रैक देखा है जहां 2 नहीं 3 पटरियों का इस्तेमाल होता है? ऐसा होता है, हमारे पड़ोसी देश बांग्लादेश (Bangladesh) में. 

कैसे तय होती है रेलवे ट्रैक की चौड़ाई?
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे ट्रैक (Railway Track) को गेज के अनुसार बनाया जाता है. यही वजह है कि देश के अलग-अलग क्षेत्रों में पटरियों की चौड़ाई अलग-अलग होती है. कहीं रेल की पटरियां कुछ कम चौड़ी होती हैं तो कहीं कुछ अधिक चौड़ी. इन्हें लोग बड़ी लाइन और छोटी लाइन भी कहते हैं.

बांग्लादेश में होता है ड्यूल गेज रेलवे ट्रैक का इस्तेमाल
बांग्लादेश में रेल चलाने के लिए ड्यूल गेज (Double railway gauges) का इस्तेमाल होता है. इस ट्रैक में तीन रेलवे लाइनें होती हैं। पहले यहां सिर्फ मीटर गेज का प्रयोग होता था. बाद में रेलवे के विस्तार के कारण भारत की तरह यहां भी ब्रॉड गेज की जरूरत पड़ने लगी. मीटर गेज को ब्रॉड गेज में बदलने में बहुत ज्यादा खर्च भी आ रहा था. यही वजह है कि बांग्लादेश रेलवे इतनी दूर तक फैले मीटर गेज के रेलवे नेटवर्क को किसी भी कीमत पर बंद करना नहीं चाहती थी.

Dual रेलवे ट्रैक क्या होता है?

आपको बता दें कि ड्यूल रेलवे ट्रैक (Doul Railway Track) एक ऐसा रेलवे ट्रैक होता है. जो दो अलग-अलग गेज के ट्रेन को एक ही ट्रैक पर चलाने में कामयाब होता है. रेलवे में काम करने वाले लोग इसे मिक्स्ड गेज कहना पसंद करते हैं. इस ट्रैक को ब्रॉड गेज और मीटर गेज को मिलाकर ही बनाया जाता है. जिसमें दो गेज वाले रेल होते हैं. तीसरा कॉमन गेज होता है. कॉमन रेल अलग-अलग गेज के ट्रेन के लिए काम आता है. आपको बताते चलें कि बांग्लादेश के अलावा कुछ और देश भी हैं, जो इस तरह के ड्यूल गेज का इस्तेमाल करते हैं.

कभी-कभी इस्तेमाल होते हैं 4 रेल ट्रैक
एक Dual गेज रेलवे ट्रैक में तीन रेल होते हैं जिसमें दो में गेज वाले रेल होते हैं ओर तीसरा कॉमन होता है जो दोनों अलग-अलग गेज के ट्रेन के लिए काम में आता है. साथ ही हम आपको बता दें कि कभी-कभी फोर रेल का भी दो आउटर और दो इनर में इस्तेमाल किया जाता है यानी कभी-कभी dual गेज बनाने के लिए दो बाहरी और दो आंतरिक रेलों का उपयोग करके चार रेल ट्रैक की आवश्यकता होती है.
Indian Railways चारबाग रेलवे स्टेशन और लखनऊ जंक्शन से ट्रेनों के दबाव को कम करने के लिए रेलवे ने ऐशबाग-मानकनगर रेलखंड को विकसित किया है। अब इस सेक्शन की डबलिंग की जाएगी। जिसके बाद ऐशबाग से मानकनगर होते हुए कानपुर की ओर ट्रेनों की संचालन क्षमता में वृद्धि हो जाएगी।

लखनऊ, जागरण संवाददाता। चारबाग रेलवे स्टेशन और लखनऊ जंक्शन से ट्रेनों के दबाव को कम करने के लिए रेलवे ने ऐशबाग-मानकनगर रेलखंड को विकसित किया है। अब इस सेक्शन की डबलिंग की जाएगी। जिसके बाद ऐशबाग से मानकनगर होते हुए कानपुर की ओर
...
more...
ट्रेनों की संचालन क्षमता में वृद्धि हो जाएगी। इस डबलिंग के बाद रेलवे कई और ट्रेनों को ऐशबाग स्टेशन पर शिफ्ट करने की तैयारी में है।  

ऐशबाग स्टेशन को रेलवे ने सेटेलाइट स्टेशन के रूप में विकसित किया है। इससे दक्षिण भारत की ओर जाने वाली राप्तीसागर एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों को लखनऊ जंक्शन और चारबाग की जगह ऐशबाग शिफ्ट किया गया है। ऐशबाग से मानकनगर स्टेशन के बीच सिंगल कार्ट लाइन रेलवे ने बिछायी है। जिससे ऐशबाग से ट्रेन लखनऊ जंक्शन न आकर सीधे मानकनगर की ओर रवाना हो जाती हैं। हालांकि, इस सिंगल लाइन पर सुबह छह से 10 और शाम सात से रात 11 बजे तक ट्रेनों की अधिक संख्या के कारण कई ट्रेनें रोक दी जाती हैं। एक ट्रेन रोककर दूसरी को पास करने में 15 से 20 मिनट का समय लगता है।

वहीं, मानकनगर स्टेशन की क्षमता भी कम होने के कारण ट्रेनें अमौसी और पिपरसंड तक रोकी जाती हैं। रेलवे अब आरडीएसओ से जमीन लेकर कार्ट लाइन बिछाएगा। पिछले दिनों आरडीएसओ और पूर्वोत्तर रेलवे के शीर्ष अधिकारियों के बीच जमीन के हस्तांतरण को लेकर सहमति बन गयी है। रेलवे इस साल जून तक दूसरी कार्ट लाइन बिछाने की तैयारी में है। वहीं रेलवे मानकनगर स्टेशन को भी विकसित करेगा। यहां दो लूपलाइन और बनाने के साथ प्लेटफार्मों की क्षमता भी बढ़ेगी। इससे कानपुर की ओर से आने वाली ट्रेनें मानकनगर से चारबाग और ऐशबाग की ओर बिना रूके निकल सकेंगी। रेलवे के इंजीनियरिंग अनुभाग ने इसे लेकर एक प्लान भी बनाया है। जिसे स्वीकृति के लिए रेलवे बोर्ड भेजा जाएगा।
भारतीय रेलवे (Indian Railway) को लोगों की लाइफलाइन कहा जाता है. यही कारण है लोग लंबी से लंबी दूरी की यात्रा ट्रेन के जर‍िये करना ही पसंद करते हैं. लाखों-करोड़ों की संख्‍या में लोग हर द‍िन ट्रेन से सफर करते हैं.

नई द‍िल्‍ली : Indian Railway Reservation Rules : भारतीय रेलवे (Indian Railway) को लोगों की लाइफलाइन कहा जाता है. यही कारण है लोग लंबी से लंबी दूरी की यात्रा ट्रेन के जर‍िये करना ही पसंद करते हैं. लाखों-करोड़ों की संख्‍या में लोग हर द‍िन ट्रेन से सफर करते हैं. इनमें मह‍िलाएं
...
more...
और बच्‍चे भी शाम‍िल होते हैं.

मह‍िलाओं के प्रत‍ि सजग रहती है रेलवे
वैसे तो ट्रेन में यात्रा के दौरान सभी की सुरक्षा का खासा ध्‍यान रखा जाता है. लेकिन रेलवे स्‍टॉफ मह‍िलाओं की सुरक्षा (Women Safety in Train) के प्रत‍ि हमेशा सजग रहता है. बार-बार ट्रेन में यात्रा करने के बावजूद भी लोगों को रेलवे से जुड़े कई न‍ियमों के बारे में पता नहीं होता. इनमें से कई न‍ियम तो यात्र‍ियों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं.

ऐसा है ही एक न‍ियम मह‍िलाओं की सुरक्षा को लेकर है. कई बार ट्रेन में महिलाएं अकेले सफर करती हैं. लेकिन क्या आपने इस बात पर ध्‍यान द‍िया है क‍ि अकेली महिला को दो पुरुषों के बीच सीट नहीं दी जाती. आमतौर पर लोगों को इस सवाल का जवाब पता नहीं होता. अगर आप भी इस बारे में नहीं जानते तो हम आपको इस न‍ियम के बारे में बताएंगे.

यहां जान‍िए इसका कारण

दरअसल, क‍िसी मह‍िला का अंजान पुरुषों के बीच सफर करना मुश्किल भरा हो सकता है. यही कारण है क‍ि रेलवे की तरफ से महिलाओं की सुरक्षा और सहूल‍ियत का व‍िशेष ध्‍यान रखते हुए पुरुषों के बीच सीट कंफर्म नहीं की जाती. अकेली मह‍िला को सीट देते समय यह ध्‍यान रखा जाता क‍ि उनके आस-पास कोई मह‍िला यात्री पहले से मौजूद हो.

ऑनलाइन बुकिंग से परेशानी हुई दूर

रेलवे यात्र‍ियों की द‍िन पर द‍िन बढ़ती संख्‍या को देखते हुए रेलवे ने कई तरह के बदलाव क‍िए हैं. पहले यात्र‍ियों को लंबी-लंबी लाइनों में लगकर ट‍िकट बुक करवाना होता था. अब आईआरसीटी के माध्‍यम से ऑनलाइन बुक‍िंग आसानी से की जा सकती है. इसी तरह अब प्‍लेटफॉर्म ट‍िकट और जनरल ट‍िकट भी ऑनलाइन करनी की सुव‍िधा है.
Train Cancelled Today: भारतीय रेलवे ने आज 437 ट्रेनें रद्द कर दी हैं. अगर आप आज ट्रेन से सफर करने वाले हैं तो पहले आपको यहां लिस्ट चेक कर लेनी चाहिए कि कौन-कौन सी ट्रेनें रद्द की गई हैं.

Train Cancelled Today:  अगर आप आज ट्रेन से सफर करने जा रहे हैं तो पहले ये खबर पढ़ लें. दरअसल  भारतीय रेलवे ने गुरुवार यानी आज 400 से ज्यादा ट्रेनें कैंसल कर दी है. वहीं घने कोहरे और धुंध के चलते विजिबिलिटी कम होने के कारण कई ट्रेनों को शॉर्ट टर्मिनेट किया गया
...
more...
है. रद्द की गई ट्रेनों की लिस्ट में दिल्ली, यूपी और बिहार की भी कई ट्रेनें शामिल हैं.

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में भारतीय रेलवे द्वारा 15 जनवरी से 22 जनवरी तक यूपी, बिहार और झारखंड से गुजरने वाली कई ट्रेनों को रद्द करने की घोषणा की गई थी. दरअसल लखनऊ-आलमनगर सेक्शन में इंटरलॉकिंग के काम की वजह से ये फैसला लिया गया था. चलिए यहां जानते हैं यूपी,बिहार की कौन सी ट्रेनें आज कैंसल की गई हैं.

ये ट्रेनें की गई हैं आज कैंसल
04154 कानपुर सेंट्रल (CNB) से रायबरेली JN (RBL) ट्रेन रद्द की गई है

04319 लखनऊ (LKO) से शहाजहांपुर (SPN) EXP ट्रेन कैंसल कर दी गई है.

05220 हरनगर से दरभंगा- JN (DBG) स्पेशल ट्रेन रदद् की गई है.

05245 सोनपुर JN (SEE) से छपरा (CPR) मेमू पास स्पेशल ट्रेन कैंसल कर दी गई है

05331 काठगोदाम से मुरादाबाद स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन रद्द की गई है.

05334 मुरादाबाद से रामनगर जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन रद्द

05379 लखनऊ से कासगंज जाने वाली स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन भी आज रद्द की गई है.

05404 गया से जमालपुर जाने वाली ट्रेन रद्द

05718 कठिहार से मालदा कोर्ट जाने वाली पैसेंजर स्पेशल ट्रेन रद्द

रेलवे ने 437 ट्रेनें की हैं आज कैंसिल

कुल मिलाकर भारतीय रेलवे ने आज 437 ट्रेनें कैंसिल की हैं. जो लोग आज ट्रेन से सफर करने की प्लानिंग कर रहे हैं वे रद्द की गई ट्रेनों के बारे में जानकारी लेने के लिए click here या NTES ऐप पर जाकर सारी डिटेल ले सकते हैं. वहीं इंडियन रेलवे के मुताबिक अगर किसी यात्री ने आईआरसीटीसी के जरिए टिकट बुक कराया है तो ई-टिकट कैंसल करने की जरूरत नहीं है. अगर किसी यात्री का ट्रेन रेलवे ने रद्द किया है तो टिकट भी रद्द हो जाएगा और 3 से 7 दिनों के भीतर रिफंड भी मिल जाएगा.

कैसे चेक करें कैंसल हुई ट्रेनों की लिस्ट

सबसे पहले आपको click here या NTES पर जाना होगा.

इसके बाद यात्रा की तारीख सेलेक्ट करनी होगी.

अब स्क्रीन के टॉप पैनल पर जाकर ट्रेन सेलेक्ट करनी होगी और फिर कैंसल की गई ट्रेनों के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा.

अब टाइम, रूट और अन्य डिटेल्स के साथ ट्रेनों की पूरी लिस्ट देखने के लिए पूर्ण या आंशिक विकल्प सेलेक्ट करने होंगे.

रद्द ट्रेनों की लिस्ट आ जाएगी.
Indian Railway: देर से चलने वाले इन ट्रेनों की लिस्ट में भाहलपुर-आनंद विहार एक्सप्रेस, अम्बेडकरनगर-निजामुद्दीन एक्सप्रेस, मुंबई-नई दिल्ली दादर एक्सप्रेस का नाम भी शामिल है.

Trains Were Running late: उत्तर भारत (North India) के कई क्षेत्रों में घने कोहरे और ठंड का असर देखने को मिल रहा है. एक तरफ जहां बढ़ रही ठंड ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है वहीं खराब मौसम का असर रेल सेवा पर भी पड़ रहा है. देश के कई क्षेत्रों में कोहरे का आलम ये है कि हर रोज कम विजिविलिटी के कारण कई
...
more...
ट्रेनें घंटों की देरी से पहुंच रही है. 

वहीं आज शहर के कुछ हिस्सों में हुई हल्की बारिश और दिल्ली में छाए कोहरे के कारण 13 ट्रेनें देरी से चल रही थीं और 22 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया. समाचार एजेंसी एएनआई ने सीपीआरओ, उत्तर रेलवे के हवाले से बताया कि आज घने के कारण "हावड़ा-नई दिल्ली एक्सप्रेस, पुरी-नई दिल्ली एक्सप्रेस, गोरखपुर-नई दिल्ली एक्सप्रेस, मुंबई-नई दिल्ली एक्सप्रेस, कानपुर-नई दिल्ली एक्सप्रेस सहित लगभग 13 ट्रेनें देरी से चल रही हैं." देर से चलने वाले इन ट्रेनों की लिस्ट में भाहलपुर-आनंद विहार एक्सप्रेस, अम्बेडकरनगर-निजामुद्दीन एक्सप्रेस, मुंबई-नई दिल्ली दादर एक्सप्रेस, विशाखापट्टनम- निजामुद्दीन एक्सप्रेस का नाम भी शामिल है. 

राजधानी में हो सकती है बारिश

बता दें कि राजधानी दिल्ली में पिछले सात दिन से यहां लगातार शीतलहर ने लोगों को परेशान कर रखा है. लगातार सातवें दिन भी दिल्ली को पूरी तरह से शीतलहर के प्रभाव से राहत नहीं मिल सकी. इस बीच मौसम विभाग के अनुसार आज यहां बारिश हो सकती है जिसके कारण धूप नहीं निकलेगी और ठंड का प्रभाव बढ़ जाएगा. बारिश के साथ ठंडी हवाएं भी चलेंगी. आईएमडी की माने तो आने वाले 23 तारीख तक पंजाब, हरियाणा, दिल्ली समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बारिश होने की संभावना है. बारिश के साथ ही इन राज्यों का न्यूनतम पारा भी 2-4 डिग्री तक बढ़ सकता है.
Page#    3676 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy