Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Rockfort Express: திருச்சி அவனது கோட்டை, இரவில் சென்னை வரை வேட்டை, அவன் தான் மலைக்கோட்டை. - Vijay Baradwaj

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Thu Aug 18 19:44:07 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by ✺❈🕊⃝❥͜͡Apna Time Aayega Banda Junction

Page#    Showing 1 to 5 of 301 news entries  next>>
Jun 17 (10:51) सांडी रेललाइन: सर्वे रिपोर्ट सब्मिट, अब स्वीकृति का इंतजार (www.amarujala.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
6299 views

News Entry# 489503  Blog Entry# 5381445   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
सांडी। सांडी रेल लाओ संघर्ष समिति की संघर्ष यात्रा अब अंतिम चरण में है। सांडी तक ट्रेन लाने के लिए सर्वे कर बनाई गई 1302 करोड़ की कार्ययोजना को आखिरी स्वीकृति के लिए रेलवे बोर्ड भेजी गई है। संघर्ष समिति ने रेलवे बोर्ड से रेल लाइन के संबंध में जानकारी मांगी थी। बोर्ड ने जवाब में सर्वे रिपोर्ट स्वीकृति के लिए दाखिल कर दिए जाने की सूचना दी है।संघर्ष समिति के अध्यक्ष डॉ. पंकज त्रिवेदी ने 29 अप्रैल को प्रधानमंत्री व रेल मंत्री कार्यालय को हरदोई से गुरसहायगंज वाया सांडी रेल लाइन की प्रगति रिपोर्ट मांगी थी।नॉदर्न रेलवे ने जवाब में बताया है कि रेल लाइन प्रोजेक्ट प्रक्रिया में है। नॉदर्न रेलवे की डिप्टी चीफ इंजीनियर अभियांत्रिकी द्वितीय केसी मीना ने सर्वे रिपोर्ट को स्वीकृत कर अंतिम स्वीकृति के लिए रेलवे बोर्ड को भेज दिया है। इस चालू वित्तीय वर्ष में बोर्ड से स्वीकृति की संभावना है।स्वीकृति मिलते ही लाइन पर...
more...
काम शुरू करा दिया जाएगा। समिति के अध्यक्ष ने बताया कि जब रेल लाइन बनकर तैयार हो जाएगी और ट्रेनों का आवागमन शुरू होगा तो क्षेत्र के लोगों को काफी सहूलियतें मिलेंगी। बताया कि योजना के तहत हरदोई से गुरसहायगंज तक 59 किलोमीटर नई रेल लाइन का निर्माण कराया जाना है।
Jun 17 (10:49) रेल कोच फैक्टरी के पांच शेड बनकर तैयार, अगले माह पूरा हो जाएगा काम (www.amarujala.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
7759 views

News Entry# 489502  Blog Entry# 5381442   
  Past Edits
Jun 17 2022 (10:49)
Station Tag: Virangana Lakshmibai Junction (Jhansi)/VGLB added by ✺❈🕊⃝❥͜͡Apna Time Aayega Banda Junction/2111393
झांसी। पिछले करीब तीन साल से निर्माणाधीन रेल कोच फैक्टरी का निर्माण कार्य अपने अंतिम दौर में पहुंच गया है। यहां निर्माणाधीन नौ विभिन्न शेड में पांच शेड का काम पूरा हो गया। रेल अफसरों का कहना है चार शेड का कार्य भी अंतिम दौर में है। अगले माह तक यह कार्य पूरा होने की उम्मीद है। इस कोच फैक्टरी में सबसे महत्वाकांक्षी वंदे भारत रेल परियोजना के भी कोच बनेंगे। पुराने पड़ चुके कोचों को नए एलएचबी (लिंक हॉफमेन बुश) कोच में तब्दील करने के लिए वर्ष 2019 में नगरा हाट के पास कोच कारखाना का निर्माण शुरू हुआ। यहां बने कोच का इस्तेमाल शताब्दी, गतिमान समेत अन्य गाड़ियों मेें होगा।यहां एलएचबी कोच तैयार करने के लिए अलग-अलग कुल नौ शेड बनाए जाने हैं। रेल अफसरों का कहना है कि इनमें से पांच शेड पूरी तरह बनकर तैयार हो गए। इनमें मशीनें भी लगा दी गईं। शेष चार शेड का...
more...
निर्माण भी अंतिम दौर में है। उनका कहना है जुलाई तक यह कार्य पूरा होने की उम्मीद है। बता दें, इस पूरे प्रोजेक्ट की कुल लागत करीब 456.89 करोड़ रुपये है। करीब तीन सौ एकड़ भूमि में इस फैक्टरी का निर्माण कराया जा रहा है। जनसंपर्क अधिकारी मनोज कुमार सिंह के मुताबिक निर्माणाधीन कोच फैक्टरी के अंदर करीब अस्सी प्रतिशत मशीनें स्थापित हो चुकी हैं। जल्द ही निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। वंदे भारत के कोच अगले साल की शुरूआत तक बन सकेंगे।अत्याधुनिक तकनीक से बनेंगे वंदे भारत कोचकेंद्र सरकार ने देश के बड़े शहरों को जोड़ने के लिए उनके बीच तेज रफ्तार वाली वंदे भारत ट्रेन शुरू करने की योजना बनाई है। एक वंदे भारत ट्रेन झांसी से होकर भी गुजरेगी। रेल अफसरों के मुताबिक वंदे भारत कोच के निर्माण में अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल होगा। आधुनिक डिजायन पर आधारित यह कोच तेज झटके सहन करने मेें सक्षम होंगेे। यात्रियों की सुविधा का भी इसमें ख्याल रहेगा।
Jun 16 (06:57) बुंदेलखंड एक्सप्रेस को ओरछा में ठहराव देने की मांग (www.amarujala.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
5812 views

News Entry# 489347  Blog Entry# 5380017   
  Past Edits
Jun 16 2022 (06:57)
Station Tag: Orchha/ORC added by ✺❈🕊⃝❥͜͡Apna Time Aayega Banda Junction/2111393
Stations:  Orchha/ORC  
झांसी। मंडल रेल उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति की बैठक मंगलवार को रेल मंडल कार्यालय में आयोजित हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीआरएम आशुतोष ने मंडल के नए कार्यों के बारे में बताया। इसमें बुंदेलखंड एक्सप्रेस को ओरछा में ठहराव देने की मांग की गई। डीआरएम ने बताया कि विभिन्न रेलखंड के बीच रेल लाइन का कार्य पूरा होने से ट्रेन संचालन सुगम होगा। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक नवीन दीक्षित ने परामर्शदात्री समिति के कार्यों और मंडल की उपलब्धि समेत यात्री सुविधाओं के बारे में बताया। अपने गठन के पश्चात परामर्शदात्री समिति की यह पहली बैठक थी। समिति में शामिल सदस्यों ने रेल संचालन संबंधी कई सुझाव दिए। कुछ सदस्यों ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस के ओरछा में ठहराव देने की मांग की। रेल अफसरों ने इस प्रस्ताव के परीक्षण कराने की बात कही है। इस दौरान प्रदीप तिवारी, प्रदीप कुमार, भागीरथ नगाइच, हबीब खान, राजनारायण सिंह, श्रवण गुप्ता, राकेश पाल, नीलकमल माहेश्वरी, हरिमोहन...
more...
बंसल समेत अन्य उपस्थित रहे। इस दौरान प्रदीप तिवारी को झांसी मंडल से सदस्य चुना गया।
Jun 14 (20:07) दिलदारनगर में बनेगा 24 कोच का दो नया प्लेटफार्म (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
10483 views

News Entry# 489240  Blog Entry# 5378681   
  Past Edits
Jun 14 2022 (20:07)
Station Tag: Dildarnagar Junction/DLN added by ✺❈🕊⃝❥͜͡Apna Time Aayega Banda Junction/2111393
Stations:  Dildarnagar Junction/DLN  
a
डीआरएम के जाने के बाद अधिकारी व कर्मचारियों ने राहत की सांस ली।
दिलदारनगर में बनेगा 24 कोच का दो नया प्लेटफार्म जागरण संवाददाता, दिलदारनगर (गाजीपुर) : आठ कोच वाला रेलवे स्टेशन का प्लेटफार्म संख्या चार अब 24 कोच का बनेगा। इसके बगल में भी 24 कोच का अतिरिक्त एक और नया प्लेटफार्म बनाया जाएगा। आठ कोच वाले प्लेटफार्म संख्या चार पर ही दिलदारनगर-ताड़ीघाट पैसेंजर मेमो ट्रेन खड़ी होती है। मंगलवार की दोपहर रेलवे स्टेशन के निरीक्षण में पहुंचे दानापुर मंडल के डीआरएम प्रभात कुमार करीब एक घंटा निरीक्षण के बाद
...
more...
गरुण स्पेशल से दानापुर के लिए रवाना हो गए। डीआरएम के जाने के बाद अधिकारी व कर्मचारियों ने राहत की सांस ली। लेफ्टिनेंट बनने के बाद पहली बार गांव पहुंचे अत्येंद्र का स्वागत यह भी पढ़ें डीआरएम गरुण स्पेशल से दानापुर से कुछमन स्टेशन पहुंचे। वहां निरीक्षण कर डाउन लाइन से दोपहर 12:26 बजे दिलदारनगर पहुंचे। डीआरएम ने अधिकारियों संग सीधे दिलदारनगर-ताड़ीघाट ब्रांच लाइन पर पहुंचकर वहां 24 कोच के बनने वाले दो नए प्लेटफार्मों का डायग्राम देखा और जल्द से जल्द कार्य शुरू करने का निर्देश दिया। जगजीवन राम रेलवे पार्क में निर्माणाधीन कंप्यूटरीकृत पैनल रूम के कार्य की धीमी गति देख नाराजगी जताई। जल्द से जल्द इसे पूर्ण करने का निर्देश दिया। आरपीएफ थाना में बने सीसीटीवी कक्ष में जाकर कैमरों को देखा। वहां गर्मी देख तत्काल कक्ष में एक्जास्ट फैन लगाने का निर्देश दिया। रेलवे के विद्युत उपकेंद्र व बाजार रेलवे फाटक केबिन भवन को मरम्मत करने का भी निर्देश दिया। वरीय परिचालन प्रबंधक इम्तियाज अहमद, स्टेशन प्रबंधक नफीस अहमद खां, कार्य निरीक्षक बक्सर केबी तिवारी, यातायात निरीक्षक संजय कुमार, टीआरडी रामाशीष यादव, इलेक्ट्रिक जेई बिट्टू कुमार वर्मा, सीनियर डीएन थ्री स्वाति, आरपीएफ निरीक्षक बाल गंगाधर आदि मौजूद रहे। वाहनों से अवैध वसूली की डीआरएम से की शिकायत जासं, जमानियां (गाजीपुर) : महली गांव निवासी सामाजिक कार्यकर्ता रामनारायन तिवारी ने सोमवार को दानापुर मंडल के डीआरएम को पत्र भेजकर रेलवे स्टेशन पर पार्किंग के नाम पर वाहनों से अवैध वसूली का आरोप लगाया है। साथ ही कार्रवाई की मांग की। रामनारायन तिवारी ने डीआरएम को भेजे पत्रक में आरोप लगाया है कि जमानियां रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या एक व दो के बाहर वाहन पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। इस कार्य में रेलवे प्रशासन का भी सहयोग है। आटो चालकों से प्रति चक्कर 30 रुपये लिया जाता है और शुल्क की कोई रशीद नहीं दी जाती है। स्टेशन पर शिकायत पुस्तिका मांगने पर नहीं दी जाती है। अवैध वसूली से आटो चालक परेशान हैं।Edited By: Jagran
दिलदारनगर में बनेगा 24 कोच का दो नया प्लेटफार्म
जागरण संवाददाता, दिलदारनगर (गाजीपुर) : आठ कोच वाला रेलवे स्टेशन का प्लेटफार्म संख्या चार अब 24 कोच का बनेगा। इसके बगल में भी 24 कोच का अतिरिक्त एक और नया प्लेटफार्म बनाया जाएगा। आठ कोच वाले प्लेटफार्म संख्या चार पर ही दिलदारनगर-ताड़ीघाट पैसेंजर मेमो ट्रेन खड़ी होती है। मंगलवार की दोपहर रेलवे स्टेशन के निरीक्षण में पहुंचे दानापुर मंडल के डीआरएम प्रभात कुमार करीब एक घंटा निरीक्षण के बाद गरुण स्पेशल से दानापुर के लिए रवाना हो गए। डीआरएम के जाने के बाद अधिकारी व कर्मचारियों ने राहत की सांस ली।

डीआरएम गरुण स्पेशल से दानापुर से कुछमन स्टेशन पहुंचे। वहां निरीक्षण कर डाउन लाइन से दोपहर 12:26 बजे दिलदारनगर पहुंचे। डीआरएम ने अधिकारियों संग सीधे दिलदारनगर-ताड़ीघाट ब्रांच लाइन पर पहुंचकर वहां 24 कोच के बनने वाले दो नए प्लेटफार्मों का डायग्राम देखा और जल्द से जल्द कार्य शुरू करने का निर्देश दिया। जगजीवन राम रेलवे पार्क में निर्माणाधीन कंप्यूटरीकृत पैनल रूम के कार्य की धीमी गति देख नाराजगी जताई। जल्द से जल्द इसे पूर्ण करने का निर्देश दिया। आरपीएफ थाना में बने सीसीटीवी कक्ष में जाकर कैमरों को देखा। वहां गर्मी देख तत्काल कक्ष में एक्जास्ट फैन लगाने का निर्देश दिया। रेलवे के विद्युत उपकेंद्र व बाजार रेलवे फाटक केबिन भवन को मरम्मत करने का भी निर्देश दिया। वरीय परिचालन प्रबंधक इम्तियाज अहमद, स्टेशन प्रबंधक नफीस अहमद खां, कार्य निरीक्षक बक्सर केबी तिवारी, यातायात निरीक्षक संजय कुमार, टीआरडी रामाशीष यादव, इलेक्ट्रिक जेई बिट्टू कुमार वर्मा, सीनियर डीएन थ्री स्वाति, आरपीएफ निरीक्षक बाल गंगाधर आदि मौजूद रहे।
वाहनों से अवैध वसूली की डीआरएम से की शिकायत
जासं, जमानियां (गाजीपुर) : महली गांव निवासी सामाजिक कार्यकर्ता रामनारायन तिवारी ने सोमवार को दानापुर मंडल के डीआरएम को पत्र भेजकर रेलवे स्टेशन पर पार्किंग के नाम पर वाहनों से अवैध वसूली का आरोप लगाया है। साथ ही कार्रवाई की मांग की। रामनारायन तिवारी ने डीआरएम को भेजे पत्रक में आरोप लगाया है कि जमानियां रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या एक व दो के बाहर वाहन पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। इस कार्य में रेलवे प्रशासन का भी सहयोग है। आटो चालकों से प्रति चक्कर 30 रुपये लिया जाता है और शुल्क की कोई रशीद नहीं दी जाती है। स्टेशन पर शिकायत पुस्तिका मांगने पर नहीं दी जाती है। अवैध वसूली से आटो चालक परेशान हैं।
Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.
Indian Railway Rules: अगर आप ट्रेन से सफर करते हैं तो जान लीजिये कि ट्रेन की हर बोगी के बाहर पांच डिजिट के कुछ नंबर्स लिखे होते हैं. ये कोड आपके बेहद काम के हैं. दरअसल, ये आपको बोगी की अहम जानकारियां देते हैं.

Indian Railway Rules: अगर आप ट्रेन से सफर करते हैं तो जान लीजिये कि ट्रेन की हर बोगी के बाहर पांच डिजिट के कुछ नंबर्स लिखे होते हैं. ये कोड आपके बेहद काम के हैं. दरअसल, ये आपको बोगी की अहम जानकारियां देते हैं.
...
more...

Trending Photos

Indian Railway Rules: अगर आप भी ट्रेन से सफर करते हैं तो आपके लिए आज की ये खबर बहुत महत्वपूर्ण है. क्या आप जानते हैं कि ट्रेन के हर डिब्बे पर 5 डिजिट का नंबर लिखा होता है. ट्रेन की बोगी पर लिखा यह नंबर बहुत खास होता है. रेलवे के नियमों के अनुसार, इन पांच नंबर में बोगी से जुड़ी कई खास जानकारी छुपी होती है. आइए जानते हैं इससे जुड़ी सभी जानकारी.

ट्रेन की हर बोगी के बाहर लिखे इन पांच डिजिट (Train Coac number) में इस बात की जानकारी होती है कि यह बोगी कब बना,  यह बोगी किस प्रकार की है. 5 डिजिट के पहले दो डिजिट बताते हैं कि ट्रेन की इस बोगी का निर्माण कब हुआ था और अंतिम के तीन डिजिट इस बोगी की कैटेगरी बताते हैं.

पहले दो डिजिट का मतलब

उदाहरण से समझिये- मान लीजिए ट्रेन की किसी बोगी पर 13328 नंबर लिखा है. तो इसे डिकोड करने के लिए सबसे पहले आप इसे दो भाग में तोड़कर पढ़ें. पहले दो डिजिट से हमें इसके बनने के समय का पता चलता है. जैसे इस केस में यह बोगी 2013 में बनी थी. अगर वहीं बोगी पर 98397 लिखा होता, तो इसका मतलब है कि इस बोगी का निर्माण 1998 में हुआ होगा.

ये भी पढ़ें- Flight News: कोरोना के बढ़ते मामले देख DGCA ने जारी किए नए निर्देश, जान लीजिए वरना नहीं कर पाएंगे हवाई यात्रा

अंतिम तीन डिजिट का मतलब

5 डिजिट के अंतिम 3 डिजिट उस बोगी की कैटेगरी को बताते हैं. जैसे पहले केस (13328) में यह बोगी जनरल कैटेगरी की है और दूसरे केस (98397) में बोगी स्लीपर क्लास की है. अगर आप इसे विस्तार से समझना चाहते हैं तो इस चार्ट को देखिए. 

001-025 : AC First class026-050 : Composite 1AC + AC-2T051-100 : AC-2T101-150 : AC-3T151-200 : CC (AC Chair Car)201-400 : SL (2nd Class Sleeper)401-600 : GS (General 2nd Class)601-700 : 2S (2nd Class Sitting/Jan Shatabdi Chair Class)701-800 : Sitting Cum luggage Rake801 + : Pantry Car, Generator or Mail

अब आप समझ गए होंगे कि डिब्बे पर लिखा 5 डिजिट का नंबर 2 अहम् जानकारियां देता है. अब आप जब भी रेल (Indian Railways) से सफर करेंगे, तो आपके बोगी के बाहर लिखे नंबर को देख कर आप बड़ी आसानी से बता सकते हैं, कि यह बोगी कब बनी है और किस क्लास की है.

More Stories

Trending news

Quick Links

TRENDING TOPICS

Partner sites

© 1998-2022 India Dot Com Private Limited, All rights reserved.
Page#    301 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy