Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Nov 17 15:01:40 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    2732 news entries  <<prev  next>>
  
Jul 19 (05:39) बिहारीगंज में कब बजेगी ट्रेन की सीटी (m.livehindustan.com)
Rail Budget
ECR/East Central
0 Followers
3464 views

News Entry# 346542  Blog Entry# 3641028   
  Past Edits
Jul 19 2018 (05:39)
Station Tag: Bihariganj/BHGJ added by सहरसा नई दिल्ली श्वेत क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस~/1872250

Jul 19 2018 (05:39)
Station Tag: Banmankhi Junction/BNKI added by सहरसा नई दिल्ली श्वेत क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस~/1872250
बनमनखी—बिहारीगंज रेलखंड के आमान परिवर्तन का काम आखिर कब पूरा होगा, इस बात को लेकर रेलवे के अधिकारी कुछ स्पष्ट नहीं बोल रहे हैं। कार्य की धीमी रफ्तार के कारण इस इलाके के लोगों में धीरे-धीरे आक्रोश पनपने लगा है। लगभग आठ दशक पुरानी इस इलाके की रेलसेवा आमान परिवर्तन के नाम पर 31 जनवरी 2016 से बंद है।ठेकेदार और विभागीय पदाधिकारियों की उदासीनता से आमान परिवर्तन कार्य रूक- रूक कर कछुआ चाल में चल रहा है। रेल सेवा बंद होने से बिहारीगंज बाजार के व्यवसाय पर प्रतिकूल असर पड़ने के साथ लोगों को आवागमन की समस्या झेलनी पड़ रही है।व्यवसायियों की मानें तो ट्रेन चलने से सीमावर्ती जिला पूर्णिया के रघुवंशनगर, बड़हरा कोठी, सुखसेना, औराही से जुड़े इलाके से अच्छी खासी संख्या में ग्राहक बिहारीगंज बाजार से कारोबार करते थे। ट्रेन बंद होने और सड़क संपर्क सुदृढ़ नहीं रहने के कारण ग्राहकों की संख्या घट गयी है।आमान परिवर्तन कार्य...
more...
का जायजा लेने और चल रही कार्यों को गति देने के क्रम में पूर्व में बिहारीगंज पहुंचे तत्कालीन डिप्टी चीफ इंजीनियर (निर्माण) ने कहा था कि कार्य में किसी तरह की प्राकृतिक बाधा नहीं आई तो मार्च 2017 तक रेलखंड में ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जायेगा। लेकिन स्थिति यह है कि मार्च 2018 में भी आमान परिवर्तन कार्य पूरा नहीं हो पाया। रेलखंड का आमान परिवर्तन कार्य में उदासीनता के खिलाफ गत दिनों सीपीआई की ओर से बिहारीगंज रेलवे स्टेशन पर धरना प्रदर्शन किया गया। वहीं इलाके के लाखों लोगों में आमान परिवर्तन अधर में लटके रहने से आक्रोश है।
  
Jul 13 (21:56) जनवरी से ट्रेन में कर सकेंगे नेपाल का सफर (m.jagran.com)
Rail Budget
NFR/Northeast Frontier
0 Followers
1510 views

News Entry# 345735  Blog Entry# 3627162   
  Past Edits
Jul 13 2018 (21:56)
Station Tag: Arariya/ARR added by amishkumar~/1702584

Jul 13 2018 (21:56)
Station Tag: Jogbani/JBN added by amishkumar~/1702584
Stations:  Jogbani/JBN   Arariya/ARR  
अररिया (शत्रुघ्न यादव)। बथनाहा से विराटनगर (नेपाल) तक रेल परियोजना का काम तेजी से चल रहा है। अगले साल जनवरी से लोग ट्रेन के माध्यम से नेपाल जा सकेंगे। परियोजना के तहत अक्टूबर तक पहले चरण का काम पूरा कर लिया जाएगा।
काम को लेकर वरीय रेल अधिकारियों का दौरा जारी है। हाल के दिनों में एनएफ रेलवे के जीएम ने भी कार्य की प्रगति का जायजा लिया। जीएम के अनुसार अक्टूबर के अंत तक पहले चरण के तहत बथनाहा से बुद्धनगर (नेपाल) तक रेल परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। यह दूरी आठ किलोमीटर की है। रेल ट्रैक के अलावा बुद्धनगर स्टेशन के भवन का निर्माण भी किया जा रहा है। मालूम हो कि भारत-नेपाल के बीच व्यापारिक एवं सामरिक
...
more...
²ष्टिकोण से अतिमहत्वपूर्ण इस अंतराष्ट्रीय रेल परियोजना की नींव 28 जनवरी 2011 को रखी गई थी। 2013 तक ही इसका निर्माण पूरा होना चाहिए था। भूमि अधिग्रहण के अलावा कुछ अन्य अड़चनों के कारण काम पूरा होने की समयसीमा बढ़ाकर अक्टूबर 2016 की गई। अब, अक्टूबर 2018 तक आठ किलोमीटर की दूरी का काम पूरा हो पाएगा। करीब 18.600 किलोमीटर लंबी इस रेल परियोजना के अंर्तगत दो रेलवे स्टेशन व दो कस्टम यार्ड बनने हैं। इसके लिए कुल 162 एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया गया है। इनमें 80.195 एकड़ जमीन भारतीय एवं 82 एकड़ जमीन नेपाली सीमा में है। एनएफ रेलवे के एजीएम के अनुसार 80 फीसद जमीन का अधिग्रहण हो चुका है। 20 फीसद जमीन के मुआवजे को लेकर नेपाल के सुप्रीम कोर्ट में मामला अटका हुआ है। नवंबर में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने की संभावना है, इसके बाद काम की गति में और तेजी आएगी।
---
अक्टूबर के अंत तक पहले चरण में बथनाहा से नेपाल कस्टम यार्ड, यानी बुधनगर तक रेल परिचालन की शुरुआत का प्रस्ताव रखा गया है। दूसरे चरण में बुधनगर से विराटनगर तक रेल का परिचालन किया जाएगा।
- अश्विनी कुमार, ज्वाइंट जेनरल मैनेजर, बथनाहा विराटनगर (नेपाल) रेल परियोजना
  
Jul 10 (15:31) सहरसा, सुपौल, मधेपुरा में बिछेंगी 6 नई रेल लाइनें, दरभंगा से सकरी होकर सहरसा के बीच चलेगी रेल (livebihar.live)
Rail Budget
ECR/East Central
0 Followers
3953 views

News Entry# 345226  Blog Entry# 3617436   
  Past Edits
Jul 10 2018 (15:31)
Station Tag: Jhanjharpur Junction/JJP added by Neeraj Thakur~/1683616

Jul 10 2018 (15:31)
Station Tag: Dauram Madhepura/DMH added by Neeraj Thakur~/1683616

Jul 10 2018 (15:31)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by Neeraj Thakur~/1683616

Jul 10 2018 (15:31)
Station Tag: Supaul/SOU added by Neeraj Thakur~/1683616
PATNA : कोसी क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों को रेल से जोड़ने के लिए छह नई रेललाइनें बिछेंगी। इसके सर्वेक्षण के लिए इस बार के बजट में रेल मंत्रालय ने साढ़े तीन लाख रुपए का प्रावधान किया है।
बिहारीगंज-सिमरी बख्तियारपुर 54 किमी नई रेललाइन सर्वेक्षण के लिए सिर्फ 20 हजार रुपए दिए गए हैं। कुशेश्वरस्थान-सहरसा 35 किमी नई लाइन सर्वेक्षण के लिए 30 हजार और बिहारीगंज से बिहपुर वाया चौसा पचरासी 50 किमी के लिए 50 हजार राशि दिए गए हैं। ललितग्राम-पुरैनी-मुरलीगंज 55 किमी नई लाइन के यातायात सर्वेक्षण के लिए एक लाख और बिहारीगंज और वीरपुर के मध्य वाया मुरलीगंज, त्रिवेणीगंज, खुर्दा, जदिया, छातापुर, प्रतापगंज, भीमनगर 92 किमी नई लाइन के लिए भी एक लाख राशि का प्रावधान किया गया है। ये
...
more...
सभी लाइनें देश के पहले रेल मंत्री स्व. ललित नारायण मिश्र के समय की घोषित हैं। अगर ये रेललाइनें बन गयीं तो रेल से जुड़ने के बाद ग्रामीण इलाकों में रोजगार के साधन बढेंगे। इलाका विकसित होगा। डिप्टी चीफ इंजीनियर निर्माण डी. एस. श्रीवास्तव ने कहा कि सर्वेक्षण में यह देखा जाता है कि नई लाइन जिस क्षेत्र से गुजर रही वहां रेलवे, राज्य सरकार और निजी किसकी जमीन है। जमीन अधिग्रहण के बाद टेंडर निकालते हुए नई रेललाइन निर्माण कार्य शुरू किया जाता है।सभी 6 नई रेललाइनों के सर्वेक्षण के लिए पिछले साल से ही सर्वेक्षण की राशि दी जा रही है लेकिन अब तक सर्वेक्षण का कार्य शुरू नहीं हो पाया है। पिछले साल सर्वेक्षण के लिए प्रत्याशित लागत राशि 8 लाख दस हजार के विरुद्ध बिहारीगंज-सिमरी बख्तियारपुर नई लाइन को सिर्फ 6 हजार, 7.50 लाख प्रत्याशित राशि के बदले बिहारीगंज-पचरासी को सिर्फ 20 हजार, प्रत्याशित लागत 2.36 लाख के विरुद्ध कुशेश्वरस्थान-सहरसा को केवल 6 हजार राशि दिए गए थे।वहीं सर्वेक्षण के लिए प्रत्याशित लागत 23.75 लाख के विरुद्ध बिहारीगंज-भीमनगर को सिर्फ दस हजार, प्रत्याशित लागत 13.5 लाख के बदले ललितग्राम-मुरलीगंज को भी दस हजार और प्रत्याशित लागत 7.50 लाख विरुद्ध बिहारीगंज-पचरासी नई लाइन को बीस हजार राशि का प्रावधान किया गया था।
  
Jul 07 (15:05) जल्दी ही समस्तीपुर-भगवानपुर नई रेल लाइन पर दौड़ेगी ट्रेन, सर्वे का कार्य पूरा (muznow.in)
Rail Budget
ECR/East Central
0 Followers
2778 views

News Entry# 344738  Blog Entry# 3608391   
  Past Edits
Jul 07 2018 (15:07)
Station Tag: Bhagwanpur/BNR added by 4A5K6S7P8B~/1802942

Jul 07 2018 (15:06)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by 4A5K6S7P8B~/1802942
समस्तीपुर से भाया ताजपुर होकर वैशाली जिले के भगवानपुर रेलवे स्टेशन तक प्रस्तावित नई रेल लाइन के आरईटी सर्वे का कार्य पूरा कर लिया गया है. इसकी रिपोर्ट भी रेल मंत्रालय को भेज दी गयी है. बताते चले कि वर्षो पूर्व रेल मंत्रालय द्वारा इस नई रेल लाइन बनाने के स्वीकृति प्रदान की गयी थी. इस रेल लाईन की कुल लम्बाई 59 किलोमीटर की होगी.
विभागीय स्तर पर दी गयी जानकारी के मुताबिक इसके निर्माण कार्य पर लगभग 395 करोड़ से अधिक रूपये खर्च होगें. बताया गया है कि सर्वे की भेजी गयी रिपोर्ट पर अगर रेल मंत्रालय अपनी स्वीकृति प्रदान कर देती है तो आगामी बजट में इस नई रेल परियोजना को शामिल कर लिया जायेगा. अगर इस नई रेल लाईन
...
more...
की स्वीकृति मिल जाती है तो इसके निर्माण होने पर समस्तीपुर के अलावा मुजफ्फरपुर एवं बैशाली जिले के लोगों को इससे काफी सुविधा मिलेगी. यह भी जानकारी दी गयी है कि नई रेल लाईन की अनुमानित लागत में बढोतरी भी हो सकती है.
चुंकि अब रेल मंत्रालय ने एक नया सर्कूलर जारी किया है कि अब कहीं भी सड़कों पर रेल गुमटी का निर्माण नहीं किया जायेगा. इसकी जगह अब अंडर ग्राउंड सड़के बनायी जायेगी अथवा फ्लाई ओवर का निर्माण किया जायेगा. जानकारी के मुताबिक अभी जो सर्वे रिपोर्ट भेजी गयी है उसमें कुल 54 जगहों पर रेल गुमटी बनाने का प्रस्ताव भी शामिल है.
ऐसी स्थिति में अंडर ग्राउंड सड़क अथवा फलाई ओवर का निर्माण किया जाता है तो इसमें अनुमानित 395 करोड़ की लागत से अधिक राशि भी लगने की प्रबल संभावना है. इस संबंध में पूछे जाने पर समस्तीपुर रेल मंडल के निर्माण विभाग के अभियंता विजय कुमार सिंह ने बताया कि रेल गुमटी के लिये अलग से कार्य योजना बनाई जा रही है.
यहां यह बता दे कि 59 किलोमीटर में प्रस्तावित इस नई रेल लाईन पर कुल 13 रेलवे स्टेशनों का निर्माण किया जायेगा. इसमें ताजपुर, बाजितपुर, तिसीऔटा, महुआ को स्टेशन बनाया जायेगा जबकि बाधी, मनपुरा, लोहनापट्टी, मौनपुर, मधुअल, छितरौती, कौरी गांव को हाल्ट का रूप दिया जायेगा. बताया गया है कि समस्तीपुर मुजफ्फरपुर रेल खंड के कपूरीग्राम रेलवे स्टेशन के पास से बनने वाली यह नई रेल लाईन मुजफ्फरपुर- हाजीपुर रेल खंड के भगवानपुर स्टेशन पर जाकर मिल जायेगी.
  
Jul 05 (07:50) सहरसा-गढ़ बरुआरी के बीच ट्रेन सेवा जल्द (m.livehindustan.com)
Rail Budget
ER/Eastern
0 Followers
1231 views

News Entry# 344511  Blog Entry# 3601947   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
सब कुछ ठीक ठाक रहा तो सितंबर 2018 में सहरसा-गढ़ बरुआरी के बीच ट्रेन की सिटी सुनाई दे सकती है।बुधवार को सहरसा में आमान परिवर्तन कार्य का निरीक्षण करने पहुंचे डिप्टी चीफ इंजीनियर(निर्माण) डी. एस. श्रीवास्तव ने कहा कि सहरसा- गढ़ बरूआरी साढ़े 16 किमी की दूरी में रेल पटरी बिछाने के बाद ब्लास्ट गिरा कर इंजन व मालगाड़ी से सफल ट्रायल किया जा चुका है। सहरसा यार्ड में मिट्टी भराई किया जा रहा है। प्लेटफॉर्म नंबर तीन के शेड को ऊंचा करने में हाथ लगाया गया है। केवल कोलकाता से आते यार्ड में केबलिंग का काम पूरा किया जाएगा। अगर मौसम का साथ रहा और केबल मिल गया तो सहरसा-गढ़ बरुआरी के बीच सितंबर महीने में ट्रेन चलाने की हमारी तैयारी है।इस संबंध में वरीय अधिकारियों को रिपोर्ट भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि धीमी गति से चल रहे कार्य में गति लाने के लिए लगातार मॉनिटरिंग करते संवेदक पर दवाब...
more...
बनाया। इसका नतीजा है कि आज कार्य काफी प्रगति पर है। डिप्टी चीफ इंजीनियर ने कार्यपालक अभियंता(निर्माण) वाचस्पति उपाध्याय को सिगनल और लाइटिंग के बचे काम की भी मॉनिटरिंग करते पूरा करवाने का निर्देश दिया।बता दें कि सहरसा-गढ़ बरुआरी के बीच 25 दिसंबर 2016 को आमान परिवर्तन कार्य के लिए मेगा ब्लॉक लिया गया था। कार्य की धीमी रफ्तार के कारण कई बार समयावधि बढ़ाई जा चुकी है। बीच में केबल की कमी के कारण परिचालन शुरू होने में बाधक बताए जाने से लोगों को निराशा हाथ लगी। अब जल्द केबल मिलने और परिचालन शुरू होने की बनी उम्मीद से साढ़े 16 किमी की दूरी में आवागमन संकट दूर होने की आस बनी है।
Page#    2732 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy