Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Bookmark
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Jan 21 17:02:41 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    352914 news entries  next>>
  
Today (16:59) पहली फ्री ट्रेन / 69 साल से करा रही भाखड़ा से नंगल तक का सफर, सभी कोच लकड़ी के (www.bhaskar.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
0 views

News Entry# 374421  Blog Entry# 4203421   
  Past Edits
Jan 21 2019 (17:00)
Station Tag: Nangal Dam/NLDM added by SP Sharma^~/1833693
Stations:  Nangal Dam/NLDM  
Dainik Bhaskar
ट्रेन में 25 गांव के लोग रोज करते हैं सफर, इसमें न कोई हॉकर और न ही टीटीई 1949 से 1963 तक इसी ट्रेन से निर्माण सामग्री लाकर बनाया गया था भाखड़ा-नंगल डैम
रोपड़ (संदीप वशिष्ठवरिंदर प्रताप सिंह). भाखड़ा डैम से नंगल तक चलने वाली दुनिया की शायद यह पहली ट्रेन होगी, जिसमें सफर करने के लिए किराया नहीं देना पड़ता।
 
देश
...
more...
के पहले और सबसे बड़े भाखड़ा-नंगल डैम के निर्माण में कौन-कौन सी चुनौतियां पेश आईं। इस बारे में कम ही लोग जानते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि चट्‌टानों को काटकर दुर्गम रास्तों पर निर्माण सामग्री पहुंचाने के लिए बीबीएमबी (भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड) ने एक ट्रेन भी चलाई थी, जो 69 साल से लगातार चल रही है। अब 25 गांवों के लोगों को यह ट्रेन रोज मंजिल पर पहुंचाती है।
 
 
मकसद- भावी पीढ़ी जाने कैसे बना देश का सबसे बड़ा डैम
1949 में शुरू की गई यह ट्रेन नंगल से डैम तक का सफर रोज दो बार तय करती है। बीबीएमबी का कहना है कि डैम का निर्माण कैसे हुआ, इसमें क्या चुनौतियां आईं, भावी पीढ़ी को यह बताने के लिए ही इस ट्रेन का चलाया जा रहा है।
हंडोला, अलींडा और स्वामीपुर के स्टूडेंट्स इसी ट्रेन से सफर करते हैं। नंगल में सिलाई-कढ़ाई सीख रहीं ज्योति, मनीषा, शानू और दीपू का कहना है कि उन्हें सबसे नजदीक शहर नंगल ही है। इसी ट्रेन के जरिये वे आसानी से रोज नंगल पहुंच पाती हैं।
लोगों के लिए गांव आने-जाने के लिए कोई अन्य साधन नहीं हैं। हंडोला की रहने वाली वंदना और अमनदीप कौर ने बताया कि वह भटोली कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष की छात्रा हैं, वह रोजाना इसी ट्रेन से आती-जाती हैं। ट्रेन में न तो कोई हॉकर और न ही टीटीई मिलेगा।
डैम बनाते वक्त किया था ट्रेन चलते रहने का वादा :
भाखड़ा डैम के निर्माण कार्य में अहम योगदान देने वली इस ट्रेन में शुरुआती दौर में 10 बोगियां होती थीं। इसी ट्रेन से नंगल से सीमेंट और औजार समेत मजदूरों डैम साइट पर पहुंचते थे। डैम के लिए जमीन का अधिग्रहण करते वक्त मैनेजमेंट ने लोगों से वादा किया था कि उनकी सुविधा के लिए यह ट्रेन हमेशा चलती रहेगी। यह क्रम आज भी जारी है।
ट्रेन चलाने के लिए बीबीएमबी हर साल बजट निर्धारित करता है। 2017-18 के लिए करीब साढ़े 57 लाख रुपए का बजट रखा गया था। रेलवे एक्सईएन आरके सिंगला ने बताया कि इस ट्रेन से लोगों को फायदा है इसलिए बीबीएमबी लगातार इसे चला रहा है।
Recommended
हादसा / भाखड़ा नहर में गिरी कार, मेले से लौट रहे एक ही गांव के 3 युवकों की मौत Twitter WhatsApp
पॉपुलर वीडियोऔर देखें
ट्रेंडिंग
Copyright@2018-19 DB Corp Ltd. All Rights Reserved
  
Today (16:55) कोटा-श्रीगंगानगर ट्रेन का दूसरा रैक भी एलएचबी कोच से चलेगा (www.bhaskar.com)
New Facilities/Technology
WCR/West Central
0 Followers
33 views

News Entry# 374420  Blog Entry# 4203420   
  Past Edits
Jan 21 2019 (16:55)
Station Tag: Kota Junction/KOTA added by SP Sharma^~/1833693
Stations:  Kota Junction/KOTA  
Dainik Bhaskar
Nagour News - मेड़ता रोड । कोटा - श्रीगंगानगर सुपरफास्ट एक्सप्रेस रैक भी अब एलएचबी रैक से संचालित होगा। उत्तर पश्चिम रेलवे के...
Recommended
पॉपुलर वीडियोऔर देखें
ट्रेंडिंग
Copyright@2018-19
...
more...
DB Corp Ltd. All Rights Reserved
  
बिलासपुर रेल मंडल के बिलासपुर कोचिंग डिपो का एक्सटेंशन कार्य चल रहा है। नई पिट लाइन के लिए एक कार्यालय बिल्डिंग तोड़ दी गई। नई बिल्डिंग बनने में समय और पैसा दोनों लगता इसलिए अफसरों ने एसी 2 के एक कंडम पड़े कोच को ही रेनोवेट कर दफ्तर व महिला कर्मचारियों के लिए रेस्ट रूम तैयार कर लिया है। इसमें ज्यादा समय भी नहीं लगा और काम भी आसान हो गया। खराब पड़ी चीज का उपयोग भी हो गया। इसका एक फायदा यह भी है कि अगर इस दफ्तर को अन्यत्र कहीं शिफ्ट करना है तो उसे दूसरी तरफ भी आसानी से ले जाया जा सकेगा।
बिलासपुर का कोचिंग डिपो रेलवे बोर्ड स्तर पर नए-नए इनोवेशन के लिए जाना जाता है।
...
more...
यहां के अफसरों ने ऐसा ही काम इसी महीने किया। कोचिंग डिपो में नई पिट लाइन के लिए एक्सटेंशन का काम चल रहा है। इस वजह से एक कार्यालय बिल्डिंग तोड़नी पड़ी। उसी के साथ महिला कर्मचारियों के भोजन व विश्राम के लिए भी कक्ष था। वह भी टूट गया। कोचिंग डिपो के अंदर बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन के लिए जगह की कमी है। नई बिल्डिंग के निर्माण में समय और पैसा दोनों लगता। सीनियर डीएमई ललित धुरंधर को आइडिया आया। उन्होंने एसी 2 के कंडम हो चुका एक कोच जो 25 साल से पटरी पर दौड़ने लायक नहीं होने से सिक लाइन में खड़ा था। इसको लेकर उन्होंने अफसरों को आदेश दिया कि कोच के दो कूपे को एक करके कार्यालय रूम बनाएं तथा एक रूम कर्मचारियों के बैठने के लिए बनाएं। बीच से आधे कोच को बंद कर बचे हुए 24 सीट वाले हिस्से को महिला कर्मचारियों के लिए रेस्ट रूम बनाया या जाए। यह जल्द ही तैयार हो गया।
कंडम कोच में बना रेलवे का कार्यालय।
एयरकंडीशन कार्यालय व रेस्ट रूम
चूंकि कोच एयरकंडीशन है इसलिए उसे पूरी तरह से वैसा ही रखा गया है। आवश्यकता पड़ने पर एयरकंडीशन भी चलाया जाता है। अंदर जितने भी तरह की लाइट व पंखे लगे थे वे वैसे ही लगे हुए हैं। वे अभी भी बैटरी से संचालित हो रहे हैं। बैटरी को इलेक्ट्रिक चार्जर के जरिए जोड़कर रखा गया है। अंदर व बाहर खूबसूरत कलर किया गया है। कोच की खिड़कियों पर कब्जे लगाए गए हैं ताकि आवश्यकता पड़ने पर उसे खोलकर बाहर की ताजी हवा भी ली जा सके। आफिस की तरह फाइल रखने के लिए साइड अपर बर्थ की जगह कवर्ड बनाए गए हैं।
बाथरूम भी रेनोवेट: कोच में दोनों तरफ शौचालय थे। इनमें भी बदलाव किया गया है। एक तरफ यूरिनल और दूसरी तरफ शौचालय की सीट लगाई गई है। नीचे बायो टायलेट टैंक लगाए गए हैं। बाहर से यह ट्रेन का सामान्य कोच ही नजर आता है लेकिन अंदर यह पूरी तरह से बदला हुआ है।
बिलासपुर रेलवे कोचिंग यार्ड के अफसरों ने किया नया इनोवेशन
बस्तर आर्ट की झलक
कोचिंग यार्ड के दरवाजे के करीब ही सिक लाइन पर खड़े कोच को बाहर से क्रीम व ब्राउन कलर किया गया है। इसमें खूबसूरत बस्तर आर्ट की झलक भी दिखाई दे रही है। हर दिन अंदर व बाहर से इसकी बाहर से सफाई की जाती है। ताकि कोच में लगा दफ्तर चकाचक दिखाई दे। ऐसा कर अफसर ने न सिर्फ पैसे की बचत की है। वरन खराब पड़ी चीज का बखूबी उपयोग किया है।

  
Rail News
52 views
Today (16:55)
✿✿Lets Fight Corruption in Indian Railways✿✿~   1469 blog posts   128 correct pred (74% accurate)
Re# 4203329-1            Tags   Past Edits
nice pic from news

  
0 views
Today (17:01)
Saurabh®~   10263 blog posts   74 correct pred (57% accurate)
Re# 4203329-2            Tags   Past Edits
yes, great presence of mind shown by cdo officers.
  
Today (14:51) अमरकंटक के डिब्बे फरवरी से सुंदर और आरामदेह (www.bhaskar.com)
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
0 Followers
898 views

News Entry# 374415  Blog Entry# 4203318   
  Past Edits
Jan 21 2019 (15:58)
Train Tag: Amarkantak Express/12854 added by Saurabh®~/1294142
ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | रायपुर
रेल मंत्रालय के प्रोजेक्ट उत्कृष्ट में सबसे पहले खूबसूरत होने वाली ट्रेन अमरकंटक एक्सप्रेस होगी। इस ट्रेन की बोगियां तो नहीं बदली जा रही हैं, लेकिन फर्श, दीवार और सीलिंग से लेकर एसी कोच के पर्दे भी बदले जा रहे हैं। सीलिंग से लेकर एसी बोगी में पर्दे का लुक भी बदल जाएगा। एसी बोगियों में बिलकुल फ्रेश फील हो, इसलिए ऑटो जेनरेटर सिस्टम इंस्टॉल किए जा रहे हैं। शौचालय भी बेहतर और बड़े किए जा रहे हैं तथा फिटिंग्स माडर्न रहेगी। रेल अफसरों ने बताया कि एक पूरी रैक का स्वरूप 15 फरवरी तक पूरी तरह बदल लिया जाएगा और अंतिम सप्ताह में अमरकंटक एक्सप्रेस नए लुक और सुविधाओं के साथ चलने लगेगी। इसके बाद दुर्ग-अंबिकापुर
...
more...
एक्सप्रेस समेत एक-एक ट्रेनें इसी लुक में आएंगी।
अमरकंटक एक्सप्रेस दुर्ग से छूटकर रायपुर होती हुई भोपाल जाती है और उसी रास्ते से लौटती है। इसके जनरल, स्लीपर और एसी कोच में सुविधाएं बढ़ाई जा रही हैं। उनका इंटीरियर भी बदला जाएगा। ट्रेन की हर बोगी में सिर्फ एलईडी लाइट्स होंगी। सभी डिब्बों की पीवीसी फ्लोरिंग के साथ ही पैनल को भी बदला जा रहा है। रिजर्वेशन कोचों में अग्निशमन यंत्र उपलब्ध कराए जाएंगे और दृष्टिबाधित यात्रियों की सुविधा के लिए के लिए ब्रेल लिपि में भी सूचनाएं दी जाएंगी। गौरतलब है, यह काम प्रोजेक्ट उत्कृष्ट के तहत होगा।
पुराने डिब्बे भी एलएचबी जैसे : रेलवे एक साथ सभी ट्रेनों की बोगियां नहीं बदल सकता, इसलिए पुराने डिब्बों को ही अपग्रेड किया जा रहा है, ताकि वह एलएचबी कोच की सारी सुविधाएं उपलब्ध करवा सकें। डीआरएम कौशल किशाेर के मुताबिक सभी पुराने कोच को अपग्रेड करने का काम चल रहा है। संभवत: 15 फरवरी से अमरकंटक का एक रैक अपग्रेड हो जाएगा और इसके साथ ट्रेन चार-पांच दिन बाद ही चलने लगेगी।

  
Rail News
358 views
Today (16:14)
waitingforJBPGSATPURASF~   5645 blog posts   45 correct pred (51% accurate)
Re# 4203318-1            Tags   Past Edits
chalo LHB nahi to kuch or naya sahi

  
Rail News
152 views
Today (16:45)
कल हो न हो 😔😔~   1427 blog posts   30 correct pred (60% accurate)
Re# 4203318-2            Tags   Past Edits
kuch mt karo bas LHB de do bas
  
Today (01:22) मेरठ-शामली-कैथल रेलवे लाइन का सर्वे पूरा (www.amarujala.com)
0 Followers
2901 views

News Entry# 374396  Blog Entry# 4202949   
  Past Edits
Jan 21 2019 (01:22)
Station Tag: Meerut City Junction/MTC added by Ankit~/523180

Jan 21 2019 (01:22)
Station Tag: Kaithal/KLE added by Ankit~/523180

Jan 21 2019 (01:22)
Station Tag: Karnal/KUN added by Ankit~/523180

Jan 21 2019 (01:22)
Station Tag: Shamli/SMQL added by Ankit~/523180
Posted by: Ankit~ 12 news posts
शामली। 3282 करोड़ रुपये की लागत से मेरठ-शामली, करनाल, कैथल तक नई रेलवे बिछाई जाएगी। 175 किमी लंबी इस रेलवे  लाइन का सर्वे पूूूरा हो गया है। प्रस्तावित रेलवे लाइन पर 23 रेलवे स्टेशन, 70 रेलवे अंडर ब्रिज (आरयूबी), चार रेलवे ओवरब्रिज (आरओबी), 206 कर्मचारियों के आवास बनेंगे।    रेलवे बजट में पानीपत-मेरठ नई रेलवे लाइन के लिए 2200 करोड़ का प्राविधान किया गया था। साथ ही कैथल से करनाल, शामली, मेरठ नई रेलवे लाइन के सर्वे की घोषणा की गई थी। जन सूचना अधिकार अधिनियम के तहत कैैैराना क्षेत्र के झारखेड़ी गांव निवासी संजय कुमार सैनी ने उत्तर रेलवे के उप मुख्य अभियंता तिलक ब्रिज नई दिल्ली से 18 दिसंबर 2018 को इस नई रेलवे लाइन की 11 बिंदुओं पर जानकारी...
more...
मांगी गई थी।जवाब में उपमुख्य अभियंता सर्वे सुजीत कुमार ने कैथल-करनाल, शामली, मेरठ नई रेलवे लाइन के सर्वे के बारे में बताया कि यह परियोजना 175 किमी लंबाई की होगी। इसमें 3282 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसके सर्वे के लिए 25 लाख  रुपये का बजट जारी किया गया था। सर्वे रिपोर्ट को विवरण के साथ 15 जुलाई 2018 को रेलवे बोर्ड को भेज दिया गया है। इस प्रस्तावित रेलवे लाइन पर 23 रेलवे स्टेशन, 70 रेलवे अंडर ब्रिज (आरयूबी), चार रेलवे ओवरब्रिज (आरओबी), 206 कर्मचारियों के आवास बनेंगे। मेरठ-पानीपत नई लाइन भी स्वीकृत हो चुकी है।                                ये है सर्वे रिपोर्टहरियाणा के कैथल जिला मुख्यालय से मुंडरी, पुंडरी, हबरी, निसंग, बहलालपुर (करनाल जिला), शेखपुरा, बिड़ौली सैयद, झिंझाना, शामली जिला मुख्यालय, गुजरान बलवा, खंदरावली, कांधला, मुजफ्फरनगर जिले का राजपुर, जौला, बुढ़ाना, तलहेरा, मेरठ जिले के सरधना, दौराला, कस्बे से मेरठ तक रेलवे लाइन प्रस्तावित है।अब आगे ये होगा- सर्वे के बाद केंद्रीय रेलवे बोर्ड से स्वीकृत ली जाएगी।- हरियाणा और उत्तर प्रदेश के राज्यों से भूमि अधिग्रहण के लिए अनुमति मांगी जाएगी।- अधिग्रहण की अनुमति के बाद रेलवे मंत्रालय से मुआवजा धनराशि जारी होगी।    -  रेलवे मंत्रालय से मुआवजा धनराशि आने के बाद रेलवे लाइन बिछाने के लिए बजट मांगा जाएगा।- बजट स्वीकृत होते ही रेलवे लाइन बिछाने के लिए रेलवे मंडल को कार्य सौंपा जाएगा।- रेलवे मंडल कार्यदायी संस्था नामित करने के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू करेगी।लंबी होगी प्रक्रियाशामली। उत्तर रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों के मुताबिक नई रेलवे बिछाने में सालों लग जाते है। मेरठ-शामली, करनाल और कैथल रेलवे परियोजना को पूरा होने में लगभग एक दशक लगेगा। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक रेलवे लाइन के सर्वेक्षण और मुआवजा वितरण में ही सालों लग जाते है। अधिकारियों के मुताबिक मेरठ-पानीपत नई रेलवे के लिए वर्ष 1999 से लेकर 2018 तक कई बार सर्वेक्षण हो चुका है, जबकि इस रेलवे लाइन के लिए दो साल पहले ही 2200 करोड़ रुपये का प्राविधान किया जा चुका है। अभी तक कार्रवाई जस की तस है।.

2 Public Posts - Today

  
Rail News
1399 views
Today (09:49)
pandeyvikas3010~   33 blog posts
Re# 4202949-4            Tags   Past Edits
Via Karnal hoga kya ?

  
916 views
Today (12:11)
Ankit~   3171 blog posts   1833 correct pred (78% accurate)
Re# 4202949-5            Tags   Past Edits
Haan via karnal hi h

  
907 views
Today (12:12)
Ankit~   3171 blog posts   1833 correct pred (78% accurate)
Re# 4202949-6            Tags   Past Edits
click here
Ye hai progress

  
782 views
Today (12:49)
22221 CSMT Rajdhani Inaugural Run Ride 😍^~   66125 blog posts   46278 correct pred (79% accurate)
Re# 4202949-7            Tags   Past Edits
Panipat meerut line diwana se phle kategi uske baad baraut-kairana khi se hote hue meerut jaegi as per final survey...

  
258 views
Today (16:22)
SP Sharma^~   2277 blog posts   2964 correct pred (82% accurate)
Re# 4202949-8            Tags   Past Edits
रेल लाइन बनने में ही दशक लग जाएगा, जब तक शाहदरा शामली रूट डबल और इलेक्ट्रीफाइड हो जाएगा.
Page#    352914 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy