Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Bookmark
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Dec 10 12:10:37 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~

Page#    Showing 1 to 5 of 756 news entries  next>>
  
Today (11:56) फ्रेट कॉरिडोर को लेकर चार घंटे का लिया गया ब्लॉक (www.jagran.com)
IR Affairs
ECR/East Central
0 Followers
49 views

News Entry# 371241  Blog Entry# 4086178   
  Past Edits
Dec 10 2018 (11:56)
Station Tag: Jhajha/JAJ added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 10 2018 (11:56)
Station Tag: Sitarampur Junction/STN added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
जमुई। पूर्व रेलवे एवं पूर्व मध्य रेलवे के स्टेशन सीतारामपुर-झाझा के बीच फ्रेट कॉरिडोर (माल गलियारा/ भाड़ा गलियारा) को लेकर रविवार को चार घंटे का ब्लॉक लिया गया। आसनसोल रेल मंडल के पीआरओ ने बताया कि कि 53049-50 हावड़ा-मोकामा-हावड़ा पैसेंजर रद रहेगी। 18622 अप हटिया-पटना पाटलिपुत्रा एक्सप्रेस 3 घंटे एवं 63561 अप आसनसोल-जसीडीह मेमू आसनसोल से एक घंटे रिसिड्युल होकर चलेगी। सिमुलतला रेलवे स्टेशन में सुबह 4 बजकर 57 मिनट में 13019 अप हावड़ा-काठगोदाम के जाने के बाद सीधे 6 घंटे से भी ज्यादा समय बीतने के बाद 11 बजकर 11 मिनट में 18622 अप हटिया-पटना-पाटलिपुत्रा एक्सप्रेस जो 3 घंटे 51 मिनट की देरी से पहुंची। 63565 अप जसीडीह-झाझा मेमू 1 घंटे 30 मिनट की देरी से चलने की जानकारी लगी थी। जानकारी अनुसार सुबह 5:49 में आरएक्सएल, एसएआई 6:20 बजे, एनआरपीए 6:35 बजे, बीजीएस 6:49 बजे, बस्ती 7:13 बजे, केपीजीएम 7:39 बजे, बीएसपीबी 8:05 बजे, आईडीबीआर 8:21 बजे, डीबीजी 8:42...
more...
बजे, बीजीयू 9:02 बजे,आरडीबीआर 9:24 बजे, केपीजीएम 9:51 बजे, एनएनए 10:13 बजे, आरा 10:34 बजे, एलएसआई 10:51 बजे मालगाड़ी समाचार संकलन तक सिमुलतला स्टेशन से गुजरी।
  
Today (11:55) खनन क्षेत्र में बंदी से पीएम का ड्रीम प्रोजेक्ट प्रभावित (www.jagran.com)
IR Affairs
0 Followers
47 views

News Entry# 371240  Blog Entry# 4086172   
  Past Edits
Dec 10 2018 (11:55)
Station Tag: Billi Junction/BXLL added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 10 2018 (11:55)
Station Tag: Obra Dam/OBR added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
Stations:  Obra Dam/OBR   Billi Junction/BXLL  
जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र में गिट्टी उत्पादन में कमी का असर रेलवे से जुड़ी देश की सबसे बड़ी परियोजनाओं में से एक डेडीकेटेड फ्रेट कॉरीडोर परियोजना पर पड़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट दिल्ली-हावड़ा मालवाहक रेल कॉरीडोर का स्टोन संबंधी निर्माण फिलहाल कई सेक्शनों में ठप हो गया है। बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र में सो¨लग उत्पादन के शून्य होने के कारण रेल कॉरीडोर को हो रही आपूर्ति पूरी तरह ठप हो गई है। पिछले माह तक रेलवे के पास मौजूद 10 प्रतिशत स्टाक के भी खत्म होने के बाद पूर्व मध्य रेलवे और उत्तर मध्य रेलवे के कई सेक्शनों में स्टोन सम्बन्धित काम बंद हो गया है।

...
more...
इस कॉरीडोर के केवल उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद से पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर सेक्शन के बीच में बनने वाले हिस्से के लिए ही छह लाख घनमीटर गिट्टी की सप्लाई बिल्ली मारकुंडी से की जानी थी। इस कॉरीडोर के नजदीकी हिस्सों में दस लाख घनमीटर से ज्यादा की आपूर्ति का लक्ष्य सम्भावित था। यहीं नही इस कॉरीडोर के अलावा भी रेलवे के अन्य ट्रैक निर्माण में लाखों घनमीटर की नियमित आपूर्ति भी पूरी तरह प्रभावित हुई है। बिल्ली मारकुंडी से तय आपूर्ति लक्ष्य के पूरा नहीं होने को देखते हुए अब रेल कॉरीडोर के लिए रेलवे ने मध्य प्रदेश की ओर रुख किया है। मध्य प्रदेश के स्टोन क्वालिटी की जांच के बाद रेल मंत्रालय ने मध्य प्रदेश से सो¨लग सहित अन्य स्टोन मटेरियल मंगाने की अनुमति कार्यदायी संस्था डेडिकेटेड फ्रेट कॉरीडोर कॉरपोरेशन को दे दी है। सम्भावना है कि 2019 की शुरुआत में मध्य प्रदेश से गिट्टी आपूर्ति शुरू हो जाएगी। लेकिन इसके कारण कॉरीडोर निर्माण में देरी के साथ उत्तर प्रदेश को भारी राजस्व क्षति झेलनी पड़ेगी। लगभग 6974 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे दिल्ली-हावड़ा कॉरिडोर के निर्माण से ट्रेनों के स्पीड में काफी वृद्धि होगी। इसे 2020 तक पूरा होना है, जिसमें बिल्ली मारकुंडी में काम बंद होने की वजह देरी हो सकती है। धारा 20 का प्रकाशन नही होने से व्यवसाय हुआ प्रभावित
प्रदेश को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाले व्यवसायिक क्षेत्रों में एक बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र को लेकर जिला प्रशासन के रवैये ने गंभीर स्थिति पैदा कर दी है। प्रशासनिक विभागों की अनियमित कार्यप्रणाली की वजह से जनपद में सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला व्यवसायिक क्षेत्र बंदी के कगार पर हैं। बंदी के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार धारा 20 के प्रकाशन में दिखाई जा रही सुस्ती की वजह से एक लाख से ज्यादा लोग जहां प्रभावित हुए हैं वहीं विकास कार्य को भी तगड़ा झटका लगा है। हालत यह है कि नियम अनुकूल होने के बावजूद कई खदानों को बंद रखा जा रहा है। खासकर जिस एनओसी पर व्यवसायियों ने करोड़ों रूपये खर्च कर अपना व्यवसाय खड़ा किया था उस एनओसी को देने वाले वन विभाग के तत्कालीन अधिकारियों के ऊपर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की। फिलहाल अगर धारा 20 का प्रकाशन हो जाए तो राजस्व, वन और कास्त की भूमि की वास्तविकता के साथ सीमांकन स्पष्ट हो जाता। लेकिन इस मामले में जिला प्रशासन खास सक्रियता नहीं दिखा रहा है। खनन व्यवसायी नेता नन्दलाल पाण्डेय ने बताया कि जिस जिला प्रशासन की संस्तुति के बाद सभी लीजें हुईं अब उन्हीं लीजों को वहीं जिला प्रशासन बंद कर रहा है।
  
Today (11:49) मोदी सरकार में पूर्वाचल विकास के केंद्र में आया : मनोज सिन्हा (hindi.thequint.com)
Politics
NER/North Eastern
0 Followers
68 views

News Entry# 371237  Blog Entry# 4086141   
  Past Edits
Dec 10 2018 (11:50)
Station Tag: Ballia/BUI added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 10 2018 (11:50)
Station Tag: Chhapra Junction/CPR added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 10 2018 (11:50)
Station Tag: Manduadih/MUV added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 10 2018 (11:50)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Dec 10 2018 (11:50)
Station Tag: Ghazipur City/GCT added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
लखनऊ, 9 दिसम्बर (आईएएनएस/आईपीएन)। केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने रविवार को यहां कहा कि 2014 में इस देश में जो परिवर्तन हुआ वो महज राजनैतिक परिवर्तन नहीं था बल्कि सामाजिक परिवर्तन भी था। जिसने सिर्फ पूर्वाचल को ही नहीं बल्कि पूरा उत्तर प्रदेश केंद्र सरकार की प्राथमिकता में ला दिया।
उन्होंने कहा कि पहले पूर्वाचल काफी पिछड़ा रहा, जिसमें गाजीपुर जिसमें ज्यादा पिछड़ा था। केंद्र सरकार का पहले कोई योगदान गाजीपुर के विकास में नहीं रहता था लेकिन वाराणसी से नरेंद्र मोदी के चुनाव जीतने के बाद अब गाजीपुर पूर्वाचल विकास के केंद्र में आ गया है। जिले में शिक्षा, चिकित्सा, परिवहन, सड़क, रेल व ढ़ांचागत विकास की दृष्टि से अभूतपूर्व विकास हुआ। उन्होंने कहा कि अब पूर्वाचल हवाई और जल
...
more...
परिवहन का केंद्र बन गया है। जल्द ही गाजीपुर से भी हवाई सेवा शुरू होगी।
रेल राज्य मंत्री रविवार को लखनऊ में सिटी मान्टेसरी स्कूल के प्रेक्षागृह में आयोजित गाजीपुर समागम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के केंद्र में आने के बाद गोरखपुर में एम्स का शिलान्यास किया गया। गोरखपुर में यूरिया उत्पादित होगी तो पूर्वी उत्तर प्रदेश के खेत में भी जाएगी।
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार में पूरे पूर्वाचल में विकास को गति देने का काम किया गया है। गोरखपुर से इलाहाबाद तक एक भी रेलखंड ऐसा नहीं है जिसका दोहरीकरण न हुआ हो, कैंट से मडुआडीह का दोहरीकरण शीघ्र पूरा हो जाएगा। छपरा से बलिया दोहरीकरण का कार्य पूरा होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे बाद की पीढ़ी के लिए नेक्स्ट जेनरेशन इंफ्रास्ट्रक्च र जो देश में बन रहा है उसका श्रेय भी प्रधानमंत्री को जाता हैं।
सिन्हा कहा कि 2022 में 320 किमी प्रति घंटे की स्पीड से रेल चल सकेगी जो कॉरिडोर अहमदाबाद से बन रहा है उसके लिए 3 ट्रेन आ गई हैं। उन्होंने कहा कि 2019 में देश का कोई गांव ऐसा नहीं होगा जहां हाईस्पीड ब्रॉडबैंड न हो। गाजीपुर से गाड़ी चलेगी ऐसा मैं खुद नहीं सोच सकता था लेकिन अब दिल्ली, कलकत्ता, वैष्णो देवी कहीं भी जाना है तो गाजीपुर से जा सकते हैं। मेमो और डेमो सर्विस का रखरखाव जल्द ही शुरू हो जाएगा। टावर वैगन 600 हैं और भी बनने जा रहे हैं, गाजीपुर में वर्कशॉप भी बनेगी।
  
Today (11:44) गुड़गांव में होंगे रैपिड रेल के 7 स्टेशन (navbharattimes.indiatimes.com)
New Facilities/Technology
0 Followers
83 views

News Entry# 371232  Blog Entry# 4086107   
  Past Edits
Dec 10 2018 (11:44)
Station Tag: Gurgaon/GGN added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
Stations:  Gurgaon/GGN  
गुड़गांव : दिल्ली-गुड़गांव-एसएनबी (शाहजहांपुर-नीमराना-बहरोर अर्बन कॉम्प्लेक्स) रैपिड रेल कॉरिडोर बनने से उद्योग विहार से नीमराना जाना काफी आसान हो जाएगा। डीपीआर को मंजूरी मिलने के बाद माना जा रहा है कि इसका निर्माण कार्य मार्च 2019 में शुरू हो सकता है। इस कॉरिडोर में गुड़गांव जिले में सात स्टेशन रहेंगे। इसके बाद रेवाड़ी का एरिया शुरू हो जाएगा। प्लैटफॉर्म पर हादसे रोकने के लिए स्क्रीन डोर लगाए जाएंगे। खेड़कीदौला व मानेसर के स्टेशन भूमिगत होंगे जबकि बाकी पांच स्टेशन ऊपर बनेंगे। शुरुआत में 6 कोच की ट्रेन चलाई जाएगी जबकि जरूरत होने पर कोचों की संख्या को 9 तक किया जा सकेगा।
गौरतलब है कि दिल्ली से मेरठ, गाजियाबाद, गुड़गांव और अलवर के बीच रैपिड रेल कॉरिडोर बनाने का प्लान है। इसकी
...
more...
कुल लंबाई 180 किमी होगी। सबसे पहले दिल्ली-रेवाड़ी-अलवर कॉरिडोर योजना पर काम होगा। गुरुवार को एनसीआर परिवहन निगम की बोर्ड बैठक में डीपीआर को हरी झंडी दिखाई गई। कॉरिडोर पर 24,975 करोड़ रुपये खर्च आने की उम्मीद है।
जमीन के ऊपर व नीचे दौड़ेगी ट्रेन
दिल्ली-गुड़गांव-एसएनबी रैपिड रेल कॉरिडोर सराय काले खां से शुरू होगा। यहां से ट्रेन कुछ दूर चलने के बाद भूमिगत होकर सीधे एयरोसिटी पहुंचेगी। इस बीच में जोरबाग और मुनिरका दो स्टेशन होंगे। एयरोसिटी से ट्रेन गुड़गांव में प्रवेश करेगी। गुड़गांव में पहला स्टेशन उद्योग विहार में बनेगा, जो एलिवेटेड होगा। इसके बाद सेक्टर -17 व राजीव चौक चौक स्टेशन तक रूट एलिवेटेड रहेगा। राजीव चौक के बाद रैपिड रेल फिर भूमिगत हो जाएगी और खेड़कीदौला व मानेसर स्टेशन तक भूमिगत रहेगी। इसके बाद पचगांव से फिर यह एलिवेटेड हो जाएगी और धारुहेड़ा व एमबीआर का कॉरिडोर तक एलिवेटेड रहेगी।
मजेंटा मेट्रो स्टेशन की तरह होगी सुरक्षा
रैपिड रेल स्टेशनों पर यात्री रेलवे ट्रैक की ओर झांक नहीं सकेंगे। दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन के स्टेशनों पर लगे डोर की तर्ज पर रैपिड रेल स्टेशनों पर डोर लगाए जाएंगे। इसके दरवाजे रुकने पर ही खुलेंगे। इसके साथ ही प्लैटफॉर्म के किनारे पर फाइबर ग्लास की दीवार लगाई जाएगी।
ट्रेन में होगा बिजनेस कोच
कॉरिडोर में गुड़गांव, मानेसर, बावल, नीमराणा व बहरोड़ तक कई इइंडस्ट्रियल एरिया पड़ेंगे। इसको ध्यान में रखते हुए रैपिड रेल में बिजनेस कोच की सुविधा दिए जाने की भी प्लानिंग है। ऐसा माना जा रहा है कि रैपिड रेल में बिजनेस कोच होने से बिजनेस पर खासा प्रभाव पड़ेगा।
प्रॉजेक्ट की खास बातें
106 किमी होगी कॉरिडोर की लंबाई
5 स्टेशन एलिवेटेड व 2 अंडरग्राउंड होंगे शहर में
160 की रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेन
5-10 मिनट में होगी फ्रीक्वेंसी।
6 कोच की होंगी ट्रेनें।
कोट
डीपीआर को मंजूरी मिल चुकी है और जल्द ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। पहले चरण में निर्माण कार्य में गुड़गांव को भी लाभ होगा। स्टेशनों पर यात्रियों की सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध रहेंगे और कोच काफी आकर्षक व आरामदायक होंगे। कोच में सामान रखने के लिए अलग से रैक होगी और महिलाओं के लिए अलग से कोच होगा।
सुधीर शर्मा, प्रवक्ता, एनसीआरटीसी
  
Today (11:38) डीआरएम का निरीक्षण (www.amarujala.com)
IR Affairs
NCR/North Central
0 Followers
92 views

News Entry# 371227  Blog Entry# 4086061   
  Past Edits
Dec 10 2018 (11:38)
Station Tag: Tundla Junction/TDL added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
Stations:  Tundla Junction/TDL  
यात्री गाड़ियों के सामयिक संचालन में होगा सुधार
डीआरएम ने रेलवे सीटीसी कक्ष और प्राइमरी स्कूल का किया निरीक्षणअमर उजाला ब्यूरो टूंडला। इलाहाबाद मंडल के मंडल रेल प्रबंधक अमिताभ कुमार ने रविवार को केन्द्रीय नियंत्रण कक्ष, गार्ड-ड्राइवर लॉबी, रेलवे प्राइमरी स्कूल के अलावा टूंडला स्टेशन का भी निरीक्षण किया। उन्होंने केन्द्रीय नियंत्रण कक्ष से संचालित की जाने की बारीकियों का पता किया। साथ ही अधीनस्थों को ट्रेनों के सामयिक संचालन पर जोर देने के लिए भी प्रेरित किया। डीआरएम अमिताभ कुमार सुबह विशेष सैलून से सुबह टूंडला पहुंचे, जहां यातायात प्रबंधक समर्थ गुप्ता ने उनका स्वागत किया। उन्होंन कहा कि जब से हमारा डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर बनकर तैयार हुआ है। तब से हम लोगों पर जिम्मेदारियां बढ़ गई हैं। अब चूंकि
...
more...
मालगाड़ियों के आवागमन के लिए अलग से कारिडोर है। इसके चलते दिल्ली-हावड़ा रेलखंड पर मालगाड़ियों का बोझ कम हुआ है। अब हमें मेल, एक्सप्रेस, सुपरफास्ट के अलावा अन्य सवारीगाड़ियों को समय से चलाने पर जोर देना होगा। यहां उन्होंने सबसे पहले केन्द्रीय नियंत्रण कक्ष पहुंचकर डीटीएम गुप्ता एवं नियंत्रकों से ट्रेनों के संचालन की बारीकियां जानीं। इसके साथ ही रेलवे के प्राइमरी स्कूल का हाल जाना। उन्होंने यहां बच्चों के बैठने के स्थान, पानी और अन्य मूलभूत सुविधाओं की ओर ध्यान दिया। इसके बाद वे मुख्य नियंत्रण कक्ष टूंडला के सामने बनी हुई गार्ड-ड्राइवर लॉबी पर भी पहुंचे। उन्होंने टूंडला स्टेशन का भी निरीक्षण किया। यहां उन्होंने साफ-सफाई पर विशेष जोर दिया। निरीक्षण में उनके साथ डीटीएम टूंडला समर्थ गुप्ता, एओएम टूंडला राहुल यादव, सीएमएस डा. केएल राय सिंघानी, मंडल चिकित्साधिकारी डा. अविनाश कुमार, एईएन हेड क्वार्टर राजेश टैगोर, स्टेशन अधीक्षक अमर सिंह, राकेश ग्रोवर मौजूद रहे। एनसीआरएमयू ने डीआरएम को दिया ज्ञापनटूंडला। डीआरएम इलाहाबाद अमिताभ कुमार को एनसीआरएमयू के पदाधिकारियों ने ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि रेलवे कॉलोनी की सड़क एवं आवासों की हालत खराब है, गंदा पानी मिल रहा है। हैंडपंप खराब पड़े हैं। लोको पायलट में बॉक्स पोर्टस की अत्यधिक कमी है। रोड साइड में गाड़ी एनआरटी करने के बाद लोको पायलट, गार्ड को शीघ्र ही कोई गाड़ी नहीं दी जाती है। रेलवे अस्पताल में एक्स-रे मशीन खराब पड़ी हुई है। डीआरएम ने सीएमएस डा. केएलराय सिंघानी से कहा कि आपके यहां जब तक एक्स-रे टेक्नीशियन नहीं आता है। तब तक आप प्राइवेट एक्स-रे करवाएं। जिसके बाद रेल के खाते से एक्स-रे का भुगतान किया जाएगा। इस अवसर पर बलराम, जयकिशन आजवानी, राकेश कुमार, कैलाशचंद्र, सरदार सिंह यादव, खेम चंद्र, दिनेशकुमार आदि मौजूद थे।
Page#    756 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy