Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Eat-Sleep-Railfanning 🔄 Repeat - Shankar Mehani

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri May 29 12:06:06 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Amish Kumar^~

Page#    Showing 1 to 5 of 3008 news entries  next>>
Yesterday (21:54) 20 किमी. की रफ्तार से चलाई जा रही स्पेशल ट्रेन (m.jagran.com)
Other News
ECR/East Central
0 Followers
606 views

News Entry# 409466  Blog Entry# 4639407   
  Past Edits
May 28 2020 (21:55)
Station Tag: Katihar Junction/KIR added by Amish Kumar^~/1702584

May 28 2020 (21:55)
Station Tag: Purnea Junction/PRNA added by Amish Kumar^~/1702584

May 28 2020 (21:55)
Station Tag: Mansi Junction/MNE added by Amish Kumar^~/1702584

May 28 2020 (21:55)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by Amish Kumar^~/1702584
सहरसा। कोरोना वायरस को लेकर लागू लॉकडाउन के बीच अप्रवासी मजदूरों को उसके गृह क्षेत्र भेजने का काम युद्ध स्तर पर शुरू है। रेल मार्ग से विभिन्न ट्रेनों के माध्यम से श्रमिकों को उसके घर भेजा जा रहा है। देश के विभिन्न हिस्सों से सहरसा, सुपौल, पूर्णिया, कटिहार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का आना शुरू है। प्रत्येक दिन करीब पांच से छह ट्रेन हर स्टेशन पहुंच रही है। करीब पांच से छह हजार श्रमिक हर दिन जिला मुख्यालय पहुंच रहा है। इसके अलावा विभिन्न जगहों से बस द्वारा भी श्रमिकों का आना जारी है। स्टेशनों पर श्रमिकों की बढती भीड को लेकर और स्टेशन पर ट्रेनों के लोड बढने को रोकने के लिए रेल ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन की स्पीड कम कर दी है। जिस ट्रेक पर 100 किमी की रफ्तार से ट्रेन दौड़ रही है वहां फिलहाल 20 की स्पीड से श्रमिक स्पेशल ट्रेन को दौडा रही है। मिली जानकारी अनुसार...
more...
रेलवे बोर्ड ने स्टेशन पर लोड कम करने के लिए दर्जनेां श्रमिक ट्रेनों का रूट डायवर्ट किया है। पूर्णिया- कटिहार की ओर जानेवाली ट्रेनों को मानसी से सहरसा होते हुए डायवर्ट कर उसे पूर्णिया- कटिहार भेज रही है। रेल अधिकारियों की मानें तो कटिहार व पूर्णिया स्टेशन पर पहले से ही लोड है। प्रतिदिन चार से पांच ट्रेन आ रही है। ट्रेन से उतरनेवाले यात्रियेां की स्की्िनग स्टेशन पर ही करनी पडती है। जिसमें काफी समय लगता है। इसीलिए ट्रेन विलंब करने का एक मुख्य कारण यही है। अगर दो तीन घंटे के अंतराल पर ट्रेन पहुंच जाएगी तो एक ट्रेन के यात्रियों की स्क्रीनिग पूरी होगी नहीं कि दूसरी ट्रेन स्टेशन पर खडी रहेगी। ऐसे में हर हमेशा हो हंगामा की स्थिति बनी रहेगी। इससे निपटने के लिए रेल प्रशासन ने सहरसा - पूण्रिया रेल खंड के बीच श्रमिक स्पेशल ट्रेन की रफ्तार 20 किमी प्रति घंटा की कर दी गयी है। जिससे ट्रेन अपने निर्धारित समय से काफी घंटे विलंब से पहुंच रही है। 27 मई को भी कई श्रमिक स्पेशल ट्रेन पूर्णिया के लिए सहरसा रूट से गयी है।

दो घंटे विलंब से पहुंची जलालपुर- सहरसा श्रमिक स्पेशल ट्रेन
जलालपुर- सहरसा के बीच प्रतिदिन चल रही दो श्रमिक स्पेशल ट्रेन बुधवार को करीब दो घंटे विलंब से सहरसा पहुंची।
05128 जलालपुर- सहरसा श्रमिक स्पेशल ट्रेन के पहुंचने का समय शाम 07.00 बजे था। जो ट्रेन 110 मिनट विलंब से सहरसा पहुंची। वहीं 05132 जलालपुर- सहरसा श्रमिक स्पेशल के सहरसा पहुंचने का समय शाम 05.30 बजे निर्धारित था। जो करीब 100 मिनट विलंब से सहरसा पहुंची। वहीं महेशना-सुपौल श्रमिक स्पेशल ट्रेन एक घंटा विलंब से सुपौल के लिए सहरसा से खुली।
वहीं सुपौल- बरौनी के बीच चल रही डीएमयू श्रमिक स्पेशल ट्रेन अपने निध्रारित समय से खुली है।

हर स्टेशन पर है आरपीएफ की तैनाती
आरपीएफ कमांडेंट अंशुमान राम त्रिपाठी ने कहा कि पूर्व मध्य रेल के सभी स्टेशनों पर आरपीएफ जवानों की तैनाती की गयी है। श्रमिक स्पेशल ट्रेन की आवाजाही को लेकर ही विशेषकर उन स्टेशनों पर जहां ट्रेन पहुंच रही है। वहां आरपीएफ जवानों को मुस्तैद किया गया है। जो श्रमिकों को ट्रेन की बोगी से उतरने में मदद कर रहे है। तो कहीं उन्हें पानी मुहैया कराने में लगे हुए है। लॉकडाउन की इस घडी में आरपीएफ जवानों की मुस्तैदी हर जगह बनी हुई है। आरपीएफ कमांडेंट ने कहा कि श्रमिक ट्रेन से जाने के दौरान रास्ता में किसी स्टेशन पर ट्रेन के रूकने या लाइन क्लियर नहीं रहने पर ट्रेन के रूकने की स्थिति में कुछ श्रमिकों के उतरकर जाने की सूचना मिली है। लेकिन इस सूचना को तत्काल ही आरपीएफ स्थानीय पुलिस को बता देती है। जिससे वैसे श्रमिकों को चिन्हित कर उसे क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया जाता है।
Yesterday (08:20) रेल आरक्षित टिकट 30 जून तक होगा रिफंड (m.livehindustan.com)
Other News
ER/Eastern
0 Followers
568 views

News Entry# 409427  Blog Entry# 4638941   
  Past Edits
May 28 2020 (08:20)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by Amish Kumar^~/1702584
Stations:  Jamalpur Junction/JMP  
कोरोना काल में आरक्षित ट्रेन टिकट बुकिंग तो शुरू हो गयी है। लेकिन इसबीच अगर टिकट रिफंड कराना हो, तो सोशल डिस्टेंट बनाकर रखना जरूरी होगा। मालदा मंडल प्रशासन ने ट्रेन टिकट रिफंड काउंटर से अलग अलग तिथियों में कराने का आदेश दिया है। तथा आगामी 30 जून तक सभी टिकट रिफंड जर्नी के अनुसार दिए गए तिथियों पर ही की जाएगी।
जमालपुर पीआरएस काउंटर से 22 मार्च से 31 मार्च के जर्नी वाले टिकट का रिफंड 27 मई से शुरू कर दी गयी है। इसी तरह 1 अप्रैल से 14 अप्रैल तक की जर्नी टिकट का रिफंड आगामी 3 जून से शुरू होगी। दिनांक 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक का जर्नी टिकट रिफंड आगामी 9 जून से, दिनांक1 मई से
...
more...
15 मई का जर्नी टिकट रिफंड आगामी 16 जून से, दिनांक 16 मई से 31 मई तक का जर्नी टिकट रिफंड आगामी 23 जून से और 1 जून से 30 जून तक का जर्नी टिकट रिफंड आगामी 28 जून से रिफंड किया जाएगा।
Yesterday (08:18) खुला जमालपुर रेल कारखाना, सप्ताह में तीन दिन होगी ड्यूटी (m.livehindustan.com)
Other News
ER/Eastern
0 Followers
516 views

News Entry# 409426  Blog Entry# 4638939   
  Past Edits
May 28 2020 (08:18)
Station Tag: Jamalpur Workshop/JMPW added by Amish Kumar^~/1702584

May 28 2020 (08:18)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by Amish Kumar^~/1702584
कोविड 19 वैश्विक महामारी में प्रथम लॉकडाउन से चतुर्थ लॉकडाउन के अंतिम सप्ताह तक रेल इंजन कारखाना बंद रहा। अब बुधवार को कारखाना प्रशासन ने बिहार सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अधार पर लॉकडाउन के 64वें दिन कारखाना सशर्त खोल दिया गया है। प्रशासन ने फिलहाल 33 प्रतिशत कर्मचारियों को रोस्टर के अनुसार ड्यूटी पर कॉल किया है। वो भी 9 नियमों के साथ ही हाजरी शुरू कर दी गयी है। हालांकि शहरी कंटेंटमेंट जोन वाले इलाकों से कर्मचारियों को ड्यूटी नहीं करने का आदेश भी जारी किया गया है। ताकि किसी तरह की कोरोना का विस्तार से बचा जा सके।
इसके अलावा प्रशासन ने प्रत्येक कर्मचारियों का मेडिकल फिटनेस प्रमाण और थर्मल मशीन से स्क्रीनिंग कराने का भी आदेश दिया है।
...
more...
बता दें कि इससे पूर्व रेलमंत्रालय के आदेश पर कारखाना प्रशासन ने गत 18 मई को कारखाना चालू किया था। तथा करीब दो हजार कर्मचारी भी ड्यूटी बजाने पहुंच गए थे, लेकिन जिला प्रशासन के आदेश पर पुन: कारखाना अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया था।
जब चूंकि बिहार सरकार का नया गाइडलाइन कल-कारखाने खोलने का आदेश जारी हुआ है, तो कारखाना प्रशासन ने प्रथम चरण में 33 प्रतिशत कर्मचारियों से ड्यूटी लेने का निर्णय लिया है और कारखाना चालू कर दिया है। हालांकि इसके लिए कई तरह विशेष नियम व सशर्त भी रखे गए हैं, ताकि कारखाना प्रोडेक्शन व मरम्मत कार्य में कोविड बेअसर रहे।
Yesterday (08:16) सोशल डिस्टेंस के साथ मास्क लगाएं (m.livehindustan.com)
Other News
ER/Eastern
0 Followers
549 views

News Entry# 409425  Blog Entry# 4638936   
  Past Edits
May 28 2020 (08:16)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by Amish Kumar^~/1702584

May 28 2020 (08:16)
Station Tag: Jamalpur Workshop/JMPW added by Amish Kumar^~/1702584
रेल इंजन कारखाना जमालपुर खोलने के पहले कारखाना प्रशासन ने प्रशासनिक आदेश भी जारी किया है। इसमें विशेषकर आरपीएफ और कल्याण विभाग अधिकारी सहित सुपरवाइजरों के लिए विशेष आदेश जारी किया है।
आरपीएफ: कारखाने में प्रवेश व निकासी के लिए आईडी कार्ड जरूरी जांच। सभी को मुंह पर मास्क लगाना अनिवार्य। सोशल डिस्टेंस के साथ आरपीएफ व वर्कशॉप कर्मचारियों को कताबद्ध प्रवेश व निकासी दें।
वाहनों को सेनिटाइज करना अनिवार्य रहेगा, बिना प्रशासनिक अनुमति के किसी भी बाहरी व्यक्तियों का कारखाना में प्रवेश वर्जित रहेगा।
सुरपरवाइजर्स:
...
more...
सुरपरवाइजर्स को विशेष आदेश दिया गया है कि वो प्रत्येक कर्मचारी का इंट्री व निकासी के समय थर्मल मशीन से शारीरिक तापमान का रिकॉड करेंगे।
किसी भी कर्मचारी में बुखार के लक्षण मिले तो बिना रेलवे डॉक्टर्स के अनुमति पर इंट्री नहीं दी जाएगी, कर्मचारियों का आरोग्य सेतु एप डाउनलोड की जांच की जाएगी, तथा इनकी दिनभर की गतिविधियां का अपटूडेट की भी जानकारी की जांच की जाएगी, किसी भी कर्मचारी को कम से कम 20 सेकंड तक हाथ धोना अनिवार्य होगा, हैंड सेनिटाइजर में रिफिलिंग चेकर भरा जाय, किसी भी तरह की बैठक, गैदरिंग व समूह बनाने की इजाजत नहीं होगी।
प्रशासनिक प्रयास: गाइडलाइन की शतप्रतिशत पालन कराना, आरपीएफ और सुपरवाइजर को गाइडलाइन के तहत कर्मचारियों से नियम व शर्तो पर कार्य कराना, बहुत जरूरी रहने पर पांच या छह अधिकारी बैठक कर आगे की रणनीति तैयार कर सकते हैं, शहर की संक्रमित क्षेत्र (कंटेंटमेंट जोन) के कर्मचारियों पर किसी भी तरह दवाब नहीं बनाया जाएगा कि वे कारखाना में हाजरी दें। रोस्टर के मुताबिक ब्रांच अधिकारी व कर्मचारी कार्य कराने की नीति पर अमल किया जाना है, किसी भी तरह की बैनर्स या पोस्टर्स कारखाना परिसर में नहीं होने की सुनिश्चित करें।
मधेपुरा रेल कारखाना में तैयार सबसे शक्तिशाली चार एसी विद्युत इंजन बुधवार को निकला। दो-दो इंजन को एक साथ जोड़कर सौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से इसे चलाकर यूपी के सहारनपुर ले जाया गया।
इससे 14 दिन पहले 13 मई को छह एसी विद्युत इंजन मालगाड़ी में लगाकर ले जाया गया था। मधेपुरा रेल कारखाना के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (सीएओ) राजीव कुमार गुप्ता ने कहा कि मालगाड़ी में लगाकर चलाने के लिए 27 मई को चार इंजन भारतीय रेलवे के ट्रैफिक विभाग को सौंपा गया है। जैसे-जैसे मधेपुरा रेल कारखाना में इंजन निर्माण होता जाएगा उसे परिचालन के लिए रेलवे को सौंपा जाएगा। उल्लेखनीय है कि बीते 18 मई को पहली बार मधेपुरा रेल कारखाना में तैयार एसी विद्युत इंजन को
...
more...
मालगाड़ी में लगाकर दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन से डेहरी होते बरवाडीह तक के लिए चलाया गया था। 
12 हजार हॉर्स पावर के इंजन को तैयार करने वाला भारत विश्व का छठा देशपूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि उच्च अश्व शक्ति वाले 12 हजार हॉर्स पावर के इस इंजन को तैयार करने वाला भारत विश्व का छठा देश है। मेड इन इंडिया की तर्ज पर अब तक 11 इंजन कारखाना से बाहर निकल चुका है। ट्विन बो-बो डिजाइन वाली इस इंजन का अक्षीय भार 22.5 टी (टन) है। यह छह हजार टन वजन क्षमता वाली मालगाड़ी को खींचने में सक्षम है। यह इंजन डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के लिए कोयला गाड़ियों की आवाजाही के लिए एक गेम चेंजर होगा। एम्बेडेड सॉफ्टवेयर के जरिए इसके सामरिक उपयोग को जीपीएस माध्यम से ट्रैक किया जा सकता है। माइक्रोवेव लिंक के जरिए जमीन पर सर्वर के माध्यम से उठाया जा सकता है। इंजन में दोनों तरफ वातानुकूलित ड्राइवर कैब है। 11 साल में 800 इंजन करेगा तैयारसीपीआरओ ने कहा कि मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव प्रा. लिमिटेड 11 वर्षों में आठ सौ स्टेट ऑफ द आर्ट 12 हजार हॉर्स पावर का इंजन निर्माण करेगा। इस शक्तिशाली इंजन के आने से भारत में मालगाड़ियों की गति बढ़ेगी और भारी मालगाड़ियों की अनुमति होगी। मधेपुरा रेल इलेक्ट्रिक इंजन कारखाना के जरिए देश में दस हजार से अधिक प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियों का निर्माण होगा। यह मधेपुरा में सामाजिक आर्थिक विकास लाएगा।
इंजन निकालने को लिया गया ब्लॉक इंजन निकालने के लिए मधेपुरा में पुल के पास बुधवार की दोपहर 3.15 से 4.45 तक का ब्लॉक लिया गया था। लेकिन आधा घंटा पहले 4.15 बजे ही इंजन पास कराने के बाद ब्लॉक रद्द कर दिया गया। इंजन निकालने के दौरान सहरसा से पहुंचे रेलवे के सहायक मंडल अभियंता मनोज कुमार, सीनियर सेक्शन इंजीनियर रेलपथ सुनील कुमार, सुभाष कुमार सहित अल्सटॉम के अधिकारी थे। इंजन को लेकर बरौनी तक सहरसा के लोको इंस्पेक्टर जे. के. सिंह, आकाश पासवान, चालक मनीष कुमार, राजू कुमार, सहायक चालक रंजीत कुमार, रवि कुमार रंजन ले गए थे। मधेपुरा में स्टेशन अधीक्षक पारसनाथ मिश्र और सहरसा में स्टेशन अधीक्षक नीरज चन्द्र ने इंजन को लाइन क्लियर दिलवा खुलवाया। 
Page#    3008 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy